बारातियों से भरी कार लोडर से भिड़ी, एक की मौत, 8 घायल

संवाददाता- अंकित कुशवाहा

शुक्लागंज, उन्नाव। मंगलवार शाम अचलगंज थाना क्षेत्र के बबुआईनखेड़ा गांव से फतेहपुर शिवराजपुर एक बारात गई थी। देर रात बारातियों से भरी कार वापस आ रही थी। जैसे ही कार त्रिभुवन खेड़ा गांव के सामने पहुंची तभी हाइवे के किनारे खड़े एक टेलर में कार जा घुसी। जिससे उसमें बैठे सभी बाराती गंभीर रूप से घायल हो गए। दुर्घटना देख आस पास के लोग दौड़े और घटना की जानकारी गंगाघाट पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलांे को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डाॅक्टरांे ने एक वृद्ध को मृत घोषित कर दिया। वहीं एक गंभीर घायल हो इलाज के लिए हैलट भेजा। जहां उसकी भी मौत हो गई। मौत की सूचना पर कोहराम मच गया। शादी की खुशियां मातम में बदल गई।


अचलगंज थाना क्षेत्र के बबुआईनखेड़ा गांव के रहने वाले विमलेश की मंगलवार की शाम बारात फतेहपुर के शिवराजपुर किशनापुरवा गांव गई हुई थी। बारात में शामिल होने के लिए गांव के कृपा शंकर उर्फ तिरपाली व बाबूलाल के अलावा जितेन्द्र, मनोज कुमार, अरविन्द पाल व अरविन्द का पांच वर्षीय बेटा कृष्णा, जय चंद्र यादव और गौरांश कार से फतेहपुर बारात गए थे। वहीं कार चालक शेखपुर नरी गांव निवासी था। बारात में शामिल होने के बाद लखनऊ कानपुर हाईवे स्थित त्रिभुवनखेड़ा गांव के पास खड़े टेलर में बुधवार भोर पहर उनकी कार जा घुसी। दुर्घटना के बाद घायलों में चीख पुकार मच गई। आस पास के लोग दौड़े और किसी तरह से घायलों को बाहर निकालने का प्रयास किया। हादसे में कार सवार समेत आठ बाराती घायल हो गए। हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल बारातियों को जिला अस्पताल की इमर्जेंसी पर भर्ती करवाया। जहां डॉक्टर ने कृपा शंकर को मृत घोषित कर दिया। जबकि घायलों का प्राथमिक इलाज किया गया। घायलों में बाबूलाल, अरविन्द और उसका बेटा कृष्णा, जय चंद्र और उसके बेटे गौरांश की हालत नाजुक होने पर हैलट रेफर कर दिया गया। हैलट में बाबूलाल की मौत हो गई। मौत की सूचना पर दोनों के परिवार में कोहराम मच गया।

282 Post Views

Shivendra TRI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मंजिले उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है' पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है

Wed Feb 26 , 2020
संवाददाता- अरूण गुप्ता अमेठी। कहते हैं कि “मंजिले उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है’ पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है” मनुष्य की पहुंच से कुछ भी दूर नहीं है अगर वह चाह ले तो सब कुछ कर सकता है ऐसा ही एक […]
मंजिले उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है' पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है

Breaking News



The Republic India News Group Websites:

Hindi News     English News    Corporate Wesbite    

Social Media