तीन साल की बच्ची को चिमटे से दागा, डीएम के संज्ञान में आने के बाद दर्ज हुई एफआइआर

वाराणसी | अनाथालय प्रबंधन की ओर से बार-बार चेतावनी देने के बाद भी आए दिन अनाथालय परिसर में बच्चों की लड़ाई का खामियाजा वार्डेन को झेलना पड़ा…काशी अनाथालय में तीन वर्षीय बच्ची के साथ मारपीट करने और उसे चिमटे से दागने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस प्रकरण को का फोटो वायरल होने के बाद जिलाधिकारी ने गंभीरता से लेते हुए एफआइआर का निर्देश दिया है। वहीं अनाथालय प्रबंधन ने वार्डेन माधुरी सिंह को निलंबित कर दिया है। प्रकरण चार सितंबर का है।


कुछ महीने पूर्व तीन वर्षीय बच्ची को अनाथालय में लाया गया था। अनाथालय कर्मियों के अनुसार वह काफी शरारती किस्म की बच्ची है। उसकी बार-बार की शरारत से आजिज आकर अनाथालय की वार्डेन माधुरी सिंह क्रोध में आ गईं और उसकी जमकर पिटाई कर दी। आरोप है कि उनका गुस्सा उससे भी शांत नहीं हुआ तो वह गर्म चिमटे से उसके पिछले हिस्से को दाग दिया। इसकी जानकारी किसी तरह आगमन संस्था तक जा पहुंची। संस्था के सदस्यों ने समूचे प्रकरण की जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह और एसएसपी आनंद कुलकर्णी से शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग की। साथ ही सीएम व पीएम तक मामले को ले जाने की भी बात की। और फोटो वायरल होने के बाद लोगो के द्वारा इसकी आलोचना भी तेज होने लगी जिसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम सुरेंद्र सिंह ने तत्काल जांच कराकर चेतगंज पुलिस को वार्डेन के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया।
वहीं दूसरी ओर इस प्रकरण में अब तक मौन साधे रहा अनाथालय प्रबंधन भी हरकत में आ गया। आनन-फानन जांच समिति गठित कर वार्डेन माधुरी सिंह को निलंबित कर दिया। प्रबंधन का कहना है कि पूरे प्रकरण की रिपोर्ट तलब की गई है ताकि सच्चाई सामने आ सके। स्वत: संज्ञान में लेते हुए प्रारंभिक कार्रवाई की गई है।और आज चेतगंज थाने में एफआईआर दर्ज करा दिया गया ।

वही जिला प्रोविजनल अधिकारी परवीन कुमार आज अचानक काशी अनाथालय में पहुँच कर मामले की जांच की और उस बच्ची से भी बात की और अनाथालय के कर्मचारियों को बीच मे फटकार भी लगाई जांच पूरी करने के बाद प्रवीन त्रिपाठी ने बताया कि इस पूरे मामले को लेकर वाराणसी के जिला प्रोविजनल अधिकारी प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि आज एक शिकायत मिली थी कि एक छोटी बच्ची जो चोटिल हो गई है और उसकी फोटो सोशल मीडिया के द्वारा संज्ञान में आया था। फोटो सामने आने के बाद जिला प्रशासन के साथ चेतगंज थाने की पुलिस टीम और एनजीओ की टीम काशी अनाथालय पहुंचे। इस घटना को लेकर जांच किया गया तो पता चला कि यहां पर कुल 45 बच्चियां रहती हैं जिनमें छोटी और बड़ी दोनों बच्चियां हैं। प्रवीण कुमार का कहना है कि खेल के दौरान एक बड़ी बच्ची और छोटी बच्ची के बीच हुए झगड़े के बाद बड़ी बच्ची ने छोटी बच्ची को गर्म चिमटे से टच करा दिया। इस पूरे मामले में वार्डन की लापरवाही सामने आई क्योंकि जब वहां पर वार्डन मौजूद थी तो बच्ची किचन में कैसे गई ? जिसे लेकर संस्था प्रबंधक के द्वारा वार्डन को बर्खास्त कर दिया गया है। वार्डन की लापरवाही को लेकर चेतगंज थाने में एफआईआर भी दर्ज करवा दिया गया।

210 Post Views

alok singh jadaun

Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अमेठी : दो दिवसीय दौरे पर पहुंची स्मृति ईरानी, विपक्ष ने किया पोस्टर वॉर

Wed Sep 11 , 2019
Report by : Arun Gupta अमेठी। भाजपा और कांग्रेस के बीच पोस्टर वार आम बात है। बड़े नेताओं के आगमन से पहले विरोध प्रदर्शन का सिलसिला जारी रहता है। ऐसे में लोकसभा क्षेत्र में एक बार फिर अमेठी में पोस्टर वार शुरू हो गया है। बुधवार को अपने लोकसभा क्षेत्र अमेठी […]
दो दिवसीय दौरे पर पहुंची स्मृति ईरानी, विपक्ष ने किया पोस्टर वॉर


The Republic India News Group Websites:

Hindi News     English News    Corporate Wesbite    

Social Media