केंद्र सरकार, केजरीवाल के बाद अब योगी सरकार भी बेचेगी प्याज, स्टाल लगाकर

डेस्क प्याज की बढ़ती कीमतों से राज्य सरकार सजग हो गई है। इसीलिए सस्ता प्याज बेचने के लिए पहल की गई है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने कम कीमत पर जनता को प्याज उपलब्ध कराने के लिए सभी जिलों में विक्रय केंद्र खोलने और कमी दूर करने के लिए भारत सरकार के राजकीय संस्थानों से प्याज मंगाने के निर्देश दिये हैं। मंडी परिषदों में फुटकर प्याज बिक्री के लिए खोले गए आउटलेट में भी प्याज की उपलब्धता बनाये रखने पर जोर दिया है।

मुख्य सचिव ने सोमवार को लोकभवन में प्रमुख सचिव खाद्य व रसद निवेदिता शुक्ला वर्मा, प्रमुख सचिव खाद्य व प्रसंस्करण सुधीर गर्ग, निदेशक खाद्य एवं रसद मनीष चौहान के साथ कम कीमत पर प्याज उपलब्ध कराने के लिए बैठक की। प्याज की जमाखोरी करने वाले के विरुद्ध व्यापक अभियान चलाकर कार्रवाई के निर्देश दिये। जमाखोरों के खिलाफ की गई कार्रवाई का प्रतिदिन शाम पांच बजे तक ब्योरा भी मांगा है। उद्यान निदेशालय में स्थापित कराये गये कंट्रोल सेंटर के जरिये प्याज की उपलब्धता और बिक्री की भी प्रतिदिन सूचना संकलित होगी। केंद्र की गाइड लाइन के अनुसार थोक व्यापारी 50 मीट्रिक टन और फुटकर विक्रेता 10 मीट्रिक टन ही भंडारण कर सकेंगे। इससे ज्यादा होने पर कड़ी कार्रवाई होगी।

खोले गए 14 जिलों में 24 विक्रय केंद्र

प्रमुख सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण सुधीर गर्ग ने बताया कि 30 जिलों में प्याज विक्रय केंद्र खोलने का निर्णय हुआ है। पहले चरण में 14 जिलों में 24 केंद्र खोले जा चुके हैं। बचे हुए 16 जिलों में मंगलवार तक केंद्र खुल जाएंगे। लखनऊ जिले में 12, प्रयागराज में चार, मुरादाबाद में चार, सहारनपुर में दो, रामपुर, आगरा, अलीगढ़, मेरठ, बरेली, बाराबंकी, शाहजहांपुर, बदायूं, बहराइच, सिद्धार्थनगर में एक-एक प्याज विक्रय खोले गए हैं। फैजाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, बस्ती, अयोध्या, उन्नाव, मथुरा, बुलंदशहर, गाजीपुर, कन्नौज, भदोही, फर्रुखाबाद, आजमगढ़, मीरजापुर एवं कानपुर नगर में एक-एक केंद्र खोले जाने हैं।

लखनऊ में भी खुले केंद्र

लखनऊ शहर में चार केंद्र उद्यान भवन, सप्रू मार्ग, राजकीय शीतगृह अलीगंज, राजकीय उद्यान आलमबाग, डॉ. राम मनोहर लोहिया पार्क के गेट नंबर दो, गोमतीनगर में खोले गए हैं। वैसे जिले में कुल 12 केंद्र बनाए गए हैं। निदेशक मंडी ने बताया कि सोमवार को मंडी बंद होने के बावजूद प्याज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के साथ लखनऊ शहर के दुबग्गा मोड़, दुबग्गा मंडी, सीतापुर रोड तथा किसान बाजार सीतापुर रोड पर चार दुकानें खुलवायीं जा चुकी हैं। खाद्य आयुक्त मनीष चौहान ने बताया कि उचित मूल्य पर प्याज की बिक्री के लिए राज्य कर्मचारी कल्याण निगम के डिपो में भी दुकानें खोली जा रही हैं।

मंडी समितियों से 20 से 45 रुपये में बिका 174 क्विंटल प्याज

बाजार की ऊंची कीमतों से बेहाल नागरिकों को राज्य सरकार ने थोक दरों पर प्याज उपलब्ध कराने का दावा किया है। शासन के मुताबिक मंडी समितियों के जरिए अब तक 174.62 क्विंटल प्याज कम कीमत पर आमजनों के लिए बेचा जा चुका है। बाजार में इन दिनों प्याज की कीमत औसतन 60 रुपये चल रही है, जबकि मंडी समितियों के जरिए 20 से 45 रुपये प्रतिकिलो की दर से प्याज बेचा गया है। इसमें 20 रुपये किलो की सबसे कम दर से सीतापुर में प्याज बिका, जबकि प्रयागराज मंडल के कई जिलों में इसकी कीमत 45 रुपये तक गई। शासन के मुताबिक प्याज की बिक्री औसतन 35.45 रुपये प्रति किलो की दर से हुई है।

262 Post Views
The Republic India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने कहा, केजरीवाल छोटी मानसिकता के यक्ति

Tue Oct 1 , 2019
गोरखपुर। गोरखपुर के सांसद सिने अभिनेता रवि किशन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस बयान पर कड़ी नाराजगी जताई है, जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश और बिहार लोगों के दिल्ली जाने पर एतराज जताया है। केजरीवाल ने यह कहा था केजरीवाल के इस बयान पर कि 500 रुपये का टिकट […]
गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने कहा, केजरीवाल छोटी मानसिकता के यक्ति


The Republic India News Group Websites:

Hindi News     English News    Corporate Wesbite    

Social Media