Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / कश्मीर के तरीके दिल्ली की भी सड़कों पर नजर आए अजीत डोभाल

कश्मीर के तरीके दिल्ली की भी सड़कों पर नजर आए अजीत डोभाल

डोभाल ने सबसे पहले नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट डीसीपी ऑफिस पहुंचकर दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की. दिल्ली फायर सर्विस को मंगलवार रात भी उत्तर पूर्वी जिले के अलग-अलग इलाकों से आगजनी की कॉल मिलती रही है. नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने नार्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा […]

  • डोभाल ने सबसे पहले नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट डीसीपी ऑफिस पहुंचकर दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की.
  • दिल्ली फायर सर्विस को मंगलवार रात भी उत्तर पूर्वी जिले के अलग-अलग इलाकों से आगजनी की कॉल मिलती रही है.

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने नार्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया. उनके साथ दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक के अलावा आईबी और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी इस दौरे में शामिल थे. सूत्रों का कहना है कि गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार रात को एक और बैठक की थी, जिसके बाद खुद एनएसए अजित डोभाल को दंगा प्रभावित क्षेत्रों का मुआयना करने के लिए कहा गया. अजित डोभाल ने सबसे पहले नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट डीसीपी ऑफिस पहुंचकर दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों के साथ लगभग 1 घंटे तक बैठक की. जिसके बाद डोभाल पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक की गाड़ी में सवार हुए और फिर पूरे काफिले के साथ उत्तर पूर्वी जिले के उन इलाकों में पहुंचे जहां जहां पर दंगा हुआ था.

सबसे पहले उन्होंने जाफराबाद का मुआयना किया. वहां से वह मौजपुर पहुंचे. मौजपुर से आगे कबीर नगर और कर्दमपुरी गए. इसके बाद गोकुलपुरी से होते हुए भजनपुरा गए और फिर वहां से करावल नगर, चांदबाग का मुआयना करते हुए वापस सीलमपुर स्थित डीसीपी ऑफिस पहुंच गए. लगभग 5 से 6 किलोमीटर के रूट को पूरा करने के बाद वह थोड़ी देर के लिए फिर से डीसीपी ऑफिस गए, जहां पुलिस कमिश्नर व अन्य अधिकारियों के साथ बातचीत की और फिर वहां से लौट गए.

जगह-जगह बिखरे थे पत्थर और जले हुए वहां

उत्तर पूर्वी जिले के जाफराबाद, मौजपुर, कर्दमपुरी, भजनपुरा करावल नगर आदि इलाकों में पिछले 3 दिन से चल रहे दंगों की वजह से न केवल शांति भंग हुई है, बल्कि इस पूरे इलाके का नजारा भी बेहद भयावह हो चला है. खुद अजित डोभाल ने भी अपने दौरे के दौरान इन तमाम इलाकों में हुई हिंसा और तोड़फोड़ के निशान देखे. अगर रविवार और सोमवार की बात करें तो मंगलवार की रात को पुलिस व अर्धसैनिक बलों की तैनाती अच्छी खासी संख्या में नजर आई.

रात भर मिलती रहीं आगजनी की कॉल

दिल्ली फायर सर्विस को मंगलवार रात भी उत्तर पूर्वी जिले के अलग-अलग इलाकों से आगजनी की कॉल मिलती रही है. फायर सर्विस सूत्रों का कहना है कि सबसे अधिक कॉल ब्रह्मपुरी, मुस्तफाबाद, शिव विहार आदि इलाकों से मिली हैं जहां पर फायर सर्विस की गाड़ियों को भी भेजा गया था.