Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / चित्रकूट: रातों-रात ऐसा क्या हुआ कि भैयाराम यादव बन गया ‘वृक्ष पुरुष’, जिलाधिकारी ने सम्मानित भी किया

चित्रकूट: रातों-रात ऐसा क्या हुआ कि भैयाराम यादव बन गया ‘वृक्ष पुरुष’, जिलाधिकारी ने सम्मानित भी किया

TheRepublicIndia: जब कोई बड़ी सख्सियत किसी आम व्यक्ति की तारीफ कर देता है तो उसे रातों-रात फेमस होने में समय नही लगता है. कुछ ऐसा ही देखने को मिला चित्रकूट जिले में, प्रियंका गांधी के द्वारा भैयाराम यादव को ट्वीट कर वृक्ष पुरुष कहे जाने के बाद भैयाराम यादव के भाग्य खुल गए और वह […]

TheRepublicIndia: जब कोई बड़ी सख्सियत किसी आम व्यक्ति की तारीफ कर देता है तो उसे रातों-रात फेमस होने में समय नही लगता है. कुछ ऐसा ही देखने को मिला चित्रकूट जिले में, प्रियंका गांधी के द्वारा भैयाराम यादव को ट्वीट कर वृक्ष पुरुष कहे जाने के बाद भैयाराम यादव के भाग्य खुल गए और वह रातोरात फेमस हो गए . भैयाराम को सांसद , विधायक और डीएम ने सम्मानित भी किया और जीवन यापन के लिए 4500 रुपये महीने के हिसाब से सहायता राशि देने का भी ऐलान कर दिया.

आपको बता दें कि चित्रकूट जिले के भारतपुर गांव का भैयाराम यादव ने अकेले 40 हजार पौधे लगाकर आज हरा-भरा जंगल बना दिया है. भैयाराम यादव वृक्षों के लिए एक किलोमीटर से ज्यादा दूरी से घड़े में पानी लेकर सिचाई करता रहा है. भैयाराम यादव के माता-पिता ने उन्हें बचपन में वृक्षों से दोस्ती करना सीखा दिया था और फिर उनका ये जुनून बढ़ता चला गया और फिर एक हादसे में उनकी पत्नी और बेटे का भी देहांत हो गया. ऐसे में वे बहुत अकेले हो गए और पौधे लगाना शुरु कर दिया. पत्नी और बेटे को खो देने के बाद भैया राम के जीवन में सिर्फ एक ही मकसद था और वो कि उन्हें पेड़ लगाकर अपने परिवार की तरह उसे पालना पोषना है. भैयाराम यादव के इस कार्य को मीडिया ने कई बार प्रमुखता से चलाया भी किन्तु चित्रकूट का जिम्मेदार महकमा उसे एक सरकारी हैंडपम्प तक नहीं दे सका. लेकिन प्रियंका गांधी के ट्वीट करते ही भैयाराम रातो-रात स्टार हो गया और चित्रकूट जिला प्रशासन ने उसकी कद्र की पहचान की है. भैयाराम यादव को जल शक्ति कार्यशाला में सम्मानित किया गया और उसके जीवन यापन के लिए साढ़े चार हजार रुपये महीने के तौर पर सहायता राशि देने की घोषणा के साथ ही हैंडपम्प भी लगवाने का वादा किया गया है. आज अपनी मेहनत का फल पाकर भैयाराम बहुत ही खुश है . भैयाराम ने सभी से अपील किया है कि सब वृक्ष लगाए और उनकी सुरक्षा करें. तभी हम प्रकृति को बचा पाएंगे.

 

इनकी तारीफ में प्रियंगा गांधी ने कहा, ‘चित्रकूट में सूखी, ऊबड़-खाबड़ जमीन पर 40,000 पेड़ों का जंगल खड़ा करने वाले को ‘वृक्ष पुरुष’ कहना गलत नहीं होगा। भैयाराम यादव ने ये साबित कर दिया कि जीवन में कुछ भी किया जा सकता है। उम्मीद है आपकी संतानों की प्यास बुझाने के लिए एक हैंडपम्प जल्दी लगेगा।’

जिलाधिकारी ने वृक्ष पुरुष भैयाराम को प्रेरणा देने वाले व्यक्ति बताया है और आज उसको जलशक्ति अभियान कार्यशाला के दौरान सम्मानित भी किया है. भैयाराम को 5100 रुपये नगद प्रस्सति पत्र देकर सम्मानित किया गया. साथ ही उसको 4 हजार 5सौ रुपये हर महीने सहायता राशि देने का ऐलान किया गया है. भैयाराम के एरिया में अभी और भी वृक्षारोपण कराया जाएगा और उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी भी भैयाराम की होगी. भैयाराम के भरत वन में हैंडपम्प भी लगवाया जाएगा.

सरकार करोड़ो रूपये खर्च कर वृक्षारोपण करवाती है किंतु सुरक्षा न हो पाने के चलते ज्यादातर पौधे सूख जाते हैं पर प्रकृति के सजग प्रहरी वृक्ष पुरुष भैयाराम यादव को आज उसकी मेहनत का कुछ फल तो मिला लेकिन जिस तरह से उसने वृक्षों की सुरक्षा की चिंता की है उसके लिए जितना भी सम्मान किया जाए कम है.