Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / एलबीएस कॉलेज में सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने छोड़ी परीक्षा: डाॅ0 वंदना सारस्वत

एलबीएस कॉलेज में सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने छोड़ी परीक्षा: डाॅ0 वंदना सारस्वत

गोण्डा। डाॅ0 राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय (अयोध्या) द्वारा आयोजित बैक पेपर परीक्षा में जिले के श्री लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कॉलेज केंद्र पर आज पहले दिन ही दो नकलची पकड़े गए. वहीं कालेज प्रशासन की सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने परीक्षा छोड दी है. उक्त जानकारी देती हुई कॉलेज की प्राचार्या व केंद्राध्यक्ष […]

गोण्डा। डाॅ0 राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय (अयोध्या) द्वारा आयोजित बैक पेपर परीक्षा में जिले के श्री लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कॉलेज केंद्र पर आज पहले दिन ही दो नकलची पकड़े गए. वहीं कालेज प्रशासन की सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने परीक्षा छोड दी है.

उक्त जानकारी देती हुई कॉलेज की प्राचार्या व केंद्राध्यक्ष डॉ0 वंदना सारस्वत ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा लाल बहादुर शास्त्री डिग्री कॉलेज केंद्र पर अवध विश्वविद्यालय के 52 महाविद्यालयों की परीक्षा मंगलवार से  प्रारम्भ हुई है. जिसमे प्रातः पाली में 1324 व सायं पाली में 1015 छात्रों ने दी. जिसमे कालेज प्रशासन की सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने परीक्षा छोड दी है. साथ ही कालेज के मुख्य नियन्ता डॉ0 जितेंद्र सिंह के नेतृत्व में आंतरिक उड़ाका दल के सदस्यों  डॉ0 अतुल सिंह, डॉ0 शैलेन्द्र नाथ मिश्र, डॉ0 रामसमुझ सिंह, डॉ0 श्याम बहादुर सिंह, डॉ0 वीपी सिंह, डॉ0 केएन पांडेय, डॉ0 मंशाराम वर्मा, डॉ0 जय शंकर तिवारी, डॉ0 रामिंत पटेल, डॉ0 ममता शुक्ल व शरद पाठक आदि ने कक्षाओं में गहन चेकिंग की. जिसमे दो परिक्षार्थियों को अनुचित साधन का प्रयोग/नकल करते हुए पकड़ा. मुख्य नियन्ता डॉ0 सिंह ने बताया कि पकड़े गये दोनों नकलचियों में एक छात्रा बीएससी तृतीय वर्ष रामदासी महाविद्यालय व दूसरी छात्रा बीएससी द्वितीय वर्ष साहिबापुर महाविद्यालय की है.


रिपोर्ट : महेश गुप्ता