Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / वाराणसी में सब सोते रहे और करोड़ों का महाघोटाला हो गया, जानिए और समझिए पूरी खबर

वाराणसी में सब सोते रहे और करोड़ों का महाघोटाला हो गया, जानिए और समझिए पूरी खबर

Report By: Khurshid alam & Junaid Khan वाराणसी। कैंट स्थित प्रधान डाकघर में उपभोक्ताओं के लगभग दो करोड़ रुपये के गबन की सूचना के बाद शुक्रवार को भी लोगों की भीड़ उमड़ी रही। लोग अपने खातों की जानकारी लेने के लिए परेशान रहे। कैंट थाने में इस मामले में 40 पीड़ित खाताधारकों ने पहुंचकर तहरीर दी। […]

Report By: Khurshid alam & Junaid Khan

वाराणसी। कैंट स्थित प्रधान डाकघर में उपभोक्ताओं के लगभग दो करोड़ रुपये के गबन की सूचना के बाद शुक्रवार को भी लोगों की भीड़ उमड़ी रही। लोग अपने खातों की जानकारी लेने के लिए परेशान रहे। कैंट थाने में इस मामले में 40 पीड़ित खाताधारकों ने पहुंचकर तहरीर दी।

इसमें से दस पीड़ित खाताधारकों का मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में कमच्छा निवासी देवेश अग्रवाल ने कैंट पुलिस को खाते से 14 लाख 55 हजार रुपये गबन का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। 11 नए प्रार्थना पत्र भी उपभोक्ताओं ने थाने में डाले हैं।

कैंट पोस्ट आफिस के बचत जमा खाते से दो करोड़ गबन के मामले में अब खातेदार पुलिस की शरण में हैं। शुक्रवार को प्रधान डाकघर पर सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। खातों की जानकारी के लिए पहुंची शबनम अंजू ने बताया कि उन्होंने दो रेकरिंग डिपॉजिट खोले थे। एक में 4 लाख 80 हजार रुपये और दूसरे में 60 हजार रुपये थे।

अब पहले खाते में 2 लाख 40 हजार रुपये और दूसरे में 23 हजार रुपये दिख रहा है। शबनम ने बताया कि जरूरतों को काटकर यह रुपये बचाए थे। डाकघर पहुंचे रफ ीउल्लाह ने बताया कि फील्ड एजेंट ने उनसे एक लाख पांच हजार रुपये लिए थे। बताया था कि डिपॉजिट खोलवाने के बाद उन्हें कागज दे दिया जाएगा। मगर दो दिन मिलने के बाद वह लापता हो चुके हैं।

आक्रोशित लोग डाकघर के डीजी प्रणव कुमार से भी मिलना चाहते थे मगर उन्हें बताया गया कि वह सोमवार को आएंगे। दूसरी तरफ  डाकघर के अधिकारियों ने बताया कि सारा गबन फ ील्ड एजेंट ने किया है। इस बाबत प्रशासन को लिखित सूचना दी जा चुकी है। अब तक की कार्रवाई में चार कर्मचारियों को निलंबित किया जा चुका है।