होम / राख के ढेर और नाले से निकल रही लाशें दे रही दिल्ली हिंसा की गवाही

राख के ढेर और नाले से निकल रही लाशें दे रही दिल्ली हिंसा की गवाही

दिल्ली दंगे में अब तक 38 लोगों की मौत गोकुलपुर नाले से तीन लोगों को शव मिले दिल्ली पुलिस अब नाले खंगाल रही है, पुलिस को शक है कि नालों में और शव हो सकते हैं राजधानी दिल्ली के हिंसा प्रभावित कई इलाकों में धारा 144 लागू है नई दिल्ली। जीटीबी अस्पताल में आज एक […]

  • दिल्ली दंगे में अब तक 38 लोगों की मौत
  • गोकुलपुर नाले से तीन लोगों को शव मिले
  • दिल्ली पुलिस अब नाले खंगाल रही है, पुलिस को शक है कि नालों में और शव हो सकते हैं
  • राजधानी दिल्ली के हिंसा प्रभावित कई इलाकों में धारा 144 लागू है

नई दिल्ली। जीटीबी अस्पताल में आज एक और मौत। दिल्ली दंगों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 39 हो गई है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगे थमने के बाद अब धड़कनें ज्यादा बढ़ी हुई हैं। हिंसाग्रस्त इलाकों में अब राख के ढेर और नाले लाशें उगल रहे है। इसके चलते मृतकों की तादाद को लेकर भी आशंकाएं गहरा गई हैं। बता दें कि खुफिया ब्यूरो (IB) के एक कर्मचारी अंकित शर्मा का शव मिलने के बाद गुरुवार को गोकुलपुरी के गंगा विहार जंक्शन के पास नाले से 2 और शव बरामद हुए हैं। नाले से शव मिलने की खबरें जंगल की आग की तरह फैल रही हैं। पुलिस शवों की तलाश में अब उत्तर-पूर्वी दिल्ली के उन नालों को खंगाल रही है, जो बंद हैं। बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 38 लोगों की मौत हुई है।

जलाए गए मकान और गाड़ी से एक-एक लाश
सिग्नेचर ब्रिज से चलते समय वजीराबाद रोड की बाईं तरफ पड़ने वाले खजूरी खास, दयालपुर, करावल नगर और गोकलपुरी थाना इलाकों में उपद्रवियों की हिंसा की गवाही जली हुईं दुकान, मकान और गाड़ियां चीख-चीखकर दे रही हैं। अभी तक शिव विहार की एक जली दुकान और एक गाड़ी से एक-एक लाश मिल चुकी है। इससे आशंका जताई जा रही है कि राख के ढेर में तब्दील हो चुके मकानों, दुकानों, गाड़ियों के अलावा हिंसा प्रभावित बड़े नालों को खंगाला जाएगा तो कुछ और शव मिल सकते हैं। खजूरी पुश्ते से लेकर यूपी बॉर्डर तक, चांदबाग पुलिया से करावल नगर चौक तक, यहां से शिव विहार तिराहे तक, बृजपुरी रोड से वापस वजीराबाद रोड तक, शिव विहार समेत कई कॉलोनियों में सैकड़ों मकान, दुकान और गाड़ियां जलाई गई हैं। अभी इनकी खाक को छाना नहीं गया है। शिव विहार की एक दुकान से वहां काम करने वाले दिलबर नेगी की बॉडी गुरुवार को बरामद हुई है। इसी तरह सोनिया विहार के ग्रीन गार्डन में एक जली हुई कार के पास बॉडी मिली है। अभी बॉडी की पहचान नहीं हो पाई है।

नालों से निकल रहे हैं शव
सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के कर्मचारी अनिल त्यागी ने बताया कि गुरुवार को नाले के कचरे में एक शव तैरता मिला। उन्होंने कहा, ‘जैसे ही शव मिलने की खबर मिली, यहां भीड़ जुटनी शुरू हो गई। लेकिन इस इलाके में कर्फ्यू लगा है, तो तुरंत फोर्स पहुंची और लोगों को वहां से हटा दिया।’