गोण्डा: आवागमन की दुर्दशा झेल रहे ग्रामवासियों का आक्रोश, ग्राम प्रधान पर शोषण का आरोप

गोण्डा: आवागमन की दुर्दशा झेल रहे ग्रामवासियों का आक्रोश, ग्राम प्रधान पर शोषण का आरोप

गोण्डा। विकास का सच बंया करता रैगाव का मजरा लुकिया पुरवा। सरकार स्वच्छता मिशन चला कर जनता को स्वस्थ रहने तथा गन्दगी से निजात दिलाने जैसी तमाम योजनाओं का संचालन कर रखा है। यानि हर तरफ से आदमी खुशहाल रहे। लेकिन यहा तो सुगमता का मुख्य मार्ग रास्ता ही नही घुटनो पानी कीचड़ युक्त रास्ते जिसपर प्रतिदिन गाव की महिलाओं तथा स्कूल जाने वाले बच्चों को आवागमन करना पडता है ग्रामिणो की माने तो नर्क से बदतर जिन्दगी जी रहे है।

उक्त प्रकरण बिकास खण्ड मुजेहना के अन्तर्गत ग्राम सभा रैगाव के मजरे लुकिया पुरवा गांव का जहा लगभग तीन सौ लोगो की आबादी बावजूद इन गाव वालो को घर से निकलने के लिए कोई सुगम सरल रास्ता नही है। मात्र चकरोड जिस पर घुटनों तक पानी आने जाने से रास्ते मे दलदल हो गया जिससे लोग फिसल कर गिर जाते हैं बच्चो को स्कूल नही भेजते जिससे दर्जनो बच्चो का पठन पाठन बन्द है।

ग्रामीण, सुनील, गोबिंदे, श्याम लाल, दीपक, दिलीप मिश्रा,, सोनु ,मोनू, ललित, सहित अन्य लगभग अन्य लोगो ने बताया रास्ते को बनवाने के लिए ग्राम प्रधान से तमाम सिफारिश की गयी। लेकिन ध्यान नही दिया। क्षेत्रीय बिधायक भी हमारे लोगो पर ध्यान देना मुनासिब नही समझा। हर तरफ सरकार बिकास कराने के लिए धन खर्च कर रही है लेकिन हम लोगों के लिए कुछ भी नहीं बिकास जैसी किसी भी योजना का लाभ नही बच्चो का भविष्य चैपट हो रहा है स्कूल नही जा पाते जबकि सरकार शिक्षा के प्रति निष्ठावान है।

उक्त लोगो का कहना है यदि हमारी समस्या का निराकरण नही हुआ तो हम लोग पंचायत, अथवा विधान सभा सहित किसी भी चुनाव मे मतदान बहिष्कार करने के साथ बाध्य होगे।

Report By: Mahesh Gupta

Ryan Reynold
Piyush Gupta is a writer based in India. When he's not writing about apps, marketing, or tech, you can probably catch him eating ice cream.

You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in Tech