Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / ICC WC 2019 : सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार पर चहल ने किया बड़ा खुलासा

ICC WC 2019 : सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार पर चहल ने किया बड़ा खुलासा

Sport | आईसीसी विश्वकप 2019 भले ही समाप्त हो चुका है लेकिन उस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार का गम भारतीय टीम के खिलाड़ियों के जहन में अभी ताजा है। यही कारण है कि टीम के सबसे प्रमुख स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने उस मैच की याद को ताजा करते हुए […]

Sport | आईसीसी विश्वकप 2019 भले ही समाप्त हो चुका है लेकिन उस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार का गम भारतीय टीम के खिलाड़ियों के जहन में अभी ताजा है। यही कारण है कि टीम के सबसे प्रमुख स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने उस मैच की याद को ताजा करते हुए बड़ा खुलासा किया है।

युजवेंद्र चहल ने कहा है कि उस मैच में जब भारतीय बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का विकेट गिरा, तो वह बहुत ही मुश्किल से अपने आंसुओं को रोक पाए थे और मैदान में बल्लेबाजी के लिए गए थे। चहल ने उस घटना को ताजा करते हुए कहा है, ‘यह मेरा पहला विश्वकप था, जब माही भाई (महेंद्र सिंह धोनी) का विकेट गिरा, तो मैं बल्लेबाजी के लिए जा रहा था। मैं अपने आंसुओं को रोकने की कोशिश कर रहा था। वह बहुत ही निराशाजनक था।’

चहल ने यह बयान इंडिया टूडे माइंड रॉक्स यूथ समिट के 10वें संस्करण में दिया है। उन्होंने कहा है कि हमने शुरुआत के नौ मैचों में बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था और अचानक से हम टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे। बारिश का होना हमारे हाथों में नहीं था, इसलिए कुछ भी कहना सही नहीं होगा। यह पहला मौका था, जब हम जल्द से जल्द अपने क्रिकेट ग्राउंड से अपने होटल को वापस जाना चाहते थे।

गौरतलब हो कि भारतीय टीम ने विश्वकप 2019 के लीग मैचों में शानदार प्रदर्शन किया था और खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी लेकिन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड की ओर से दिए गए 240 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए हार का सामना करना पड़ा। उस मैच में एमएस धोनी ने रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर 116 रनों की साझेदारी की थी।