Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / अमेठी: प्रशासन की अनदेखी ले लेगी हजारों लोगों की जान, कारण आप भी जान लीजिए

अमेठी: प्रशासन की अनदेखी ले लेगी हजारों लोगों की जान, कारण आप भी जान लीजिए

The Republic India- वैसे तो सरकार अपने आप धार्मिक स्थलों तथा जीवो को लेकर बहुत सतर्क दिखाती है तथा साफ-सफाई और सुरक्षा के लाख दावे करती किंतु अमेठी में इन सभी दावों की पोल खोलता संग्रामपुर ब्लॉक स्थित मां कालिका का धाम. जहां पर कल से लगातार मछलियों की मौत हो रही है किंतु शासन प्रशासन […]

The Republic India- वैसे तो सरकार अपने आप धार्मिक स्थलों तथा जीवो को लेकर बहुत सतर्क दिखाती है तथा साफ-सफाई और सुरक्षा के लाख दावे करती किंतु अमेठी में इन सभी दावों की पोल खोलता संग्रामपुर ब्लॉक स्थित मां कालिका का धाम. जहां पर कल से लगातार मछलियों की मौत हो रही है किंतु शासन प्रशासन चुप बैठा हुआ।

आपको बता दें कि अमेठी तहसील क्षेत्र के संग्रामपुर ब्लॉक तथा थाना से महज 100 मीटर की दूरी पर अति प्रसिद्ध एवं पर्यटक स्थल के रूप में मां कालिका का धाम कालिकन स्थित है. यहां पर बहुत पुराने समय से बना हुआ है.वहीं पर एक सगरा है जहां पर लोग पहले पहुंचकर पवित्र होते थे. उसके बाद मां कालिका के दर्शन करने मंदिर जाया करते थे. किंतु कुछ दिनों के बाद इसमें मछलियां पाली गई और जब श्रद्धालु दर्शन करने आते थे तो पुण्य कमाने की दृष्टि से इस सगरे में इन मछलियों के खाने के लिए दाना डाला करते थे और जिनको मछलियां खाती थी तथा श्रद्धालु पुण्य कमाते थे. अचानक पता नहीं क्या हुआ अज्ञात कारणों के चलते इस सगरे की सारी मछलियां एक-एक कर 20 अगस्त से मरने लगीं । आज 3 दिन बीत जाने के बावजूद अमेठी प्रशासन द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया, जिससे इनको बचाया जा सके और इनको सुरक्षित तथा संरक्षित किया जा सके.

वहीं पर स्थानीय लोगों के द्वारा चूना तथा केमिकल डालकर इनको बचाने तथा महामारी फैलने के खतरे से बचने का प्रयास किया जा रहा है. क्योंकि लगातार इन बड़ी-बड़ी मछलियों की मौत होने के चलते यहां पर महामारी फैलने का खतरा बना हुआ है. जिसके चलते स्थानीय लोग तथा ग्रामीण बेचैन है और डर-डर कर जीने को मजबूर हैं।

वहीं पर कालिकन मंदिर के पुजारी श्री महाराज ने बताया की आकाशीय बरसात से इनको ऑक्सीजन ना मिल पाना ही इनकी मृत्यु का कारण है ऐसा मत्स्य विभाग का कोई आया था वह बता रहा. इसके लिए अगर शासन प्रशासन की तरफ से बरसात के पहले कोई व्यवस्था कर कर दी जाए तो ऐसी घटना से बचा जा सकता है. अब 3 दिन से मछलियां मर रही हैं और सूचना देने के बाद एक महोदय आए थे बस देखकर चले गए॰ उन्होने कहाँ कि जब पब्लिक को ही सब करना है तो पब्लिक अपना कर रही जनता के सहयोग से तथा भक्तों के सहयोग से चूना डलवाया जा रहा है।


Report By- ARUN GUPTA