Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / सत्ता में आए तो पैसा देने के बजाए बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी: मायावती

सत्ता में आए तो पैसा देने के बजाए बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी: मायावती

The Republic India: बसपा सुप्रीमों मायावती ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि जनता सबकुछ समझ चुकी है अब नमो नमो वालों की छुट्टी होगी. हमारी पार्टी घोषणा पत्र नहीं बल्कि काम करके दिखाती है. सत्ता में आए तो पैसा देने के बजाए बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी. मायावती बोलीं कि […]

The Republic India: बसपा सुप्रीमों मायावती ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि जनता सबकुछ समझ चुकी है अब नमो नमो वालों की छुट्टी होगी. हमारी पार्टी घोषणा पत्र नहीं बल्कि काम करके दिखाती है. सत्ता में आए तो पैसा देने के बजाए बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी. मायावती बोलीं कि देश में परिवर्तन की लहर है, भीड़ बयां कर रही है कि 23 मई को नमो नमो वालों की छुट्टी होने वाली है.

फतेहपुर लोकसभा क्षेत्र में गठबंधन प्रत्याशी के समर्थन में जीटी रोड सब्जी मंडी मैदान में बुधवार को आयोजित जनसभा में बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा . कहा, आजादी के बाद अधिकतर प्रदेशों में कांग्रेस ने राज किया है लेकिन गलत नीतियों के कारण उसे सत्ता से बाहर होना पड़ा है. कांग्रेस ने गरीबी, बेरोजगार और किसान दुखी थे. बाबा साहेब द्वारा दिए गए आरक्षण का लाभ निचले तबके के लोगों को नहीं दिया. यूपी के बदतर हालात के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार है. खासकर पूर्वांचल में लोग रोजी रोटी के लिए पलायन करके बड़े शहरों की ओर चले गए. कहा कि अति गरीबों, शोषित एवं दलितों की बदतर हालत को देखते हुए 14 अप्रैल 1989 में बसपा का गठन करना पड़ा और उनके लिए काम कर रहीं हैं. वर्तमान में भाजपा सरकार को भी अपनी गलत नीतियों के कारण सत्ता से हाथ धोना पड़ेगा.

प्रदेश में बसपा की सरकार बनी तो सभी का भला हुआ. अब केंद्र में सरकार बनने पर काम किया जाएगा। भाजपा और कांग्रेस के घोषणा पत्र के जवाब में कहा कि हमारी सरकार आई तो पैसा नहीं नौकरी दी जाएगी. कहा, मौजूदा सरकार में किसानों की हालत बेहद खराब हुई है, अब नमो नमो वालो की छुट्टी हो जाएगी.

मायावती ने मौजूद लोगों से सवाल करते कहा कि क्या मुफ्त सिलेंडर और , मकान मिला है,तो लोगो का जवाब था कि नहीं. उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनावी वादे पूरे नहीं किए, सबका साथ सबका विकास सिर्फ जुमलेबाजी है. कांग्रेस ने भी इसी तरह के वादे किए थे और अब फिर दोबारा से कर रही है. आजादी के बाद से केंद्र और राज्य दोनो जगह कांग्रेस की सत्ता थी लेकिन गरीब, बेरोजगार, किसान, मेहनतकश लोगों के लिए ठोस कदम नहीं उठाए गए. सपा व अन्य दलों के साथ गठबंधन किया. कांग्रेस कहती है कि सत्ता का एक और मौका दें. कांग्रेस और भाजपा से सवाल पूछना चाहिए कि प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण नहीं दिया.