Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / कानपुर: जल निगम पेयजल में कीड़े की आपूर्ति कर रहा है, लोग असहाय हैं

कानपुर: जल निगम पेयजल में कीड़े की आपूर्ति कर रहा है, लोग असहाय हैं

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बर्रा दक्षिण क्षेत्र में लोग लंबे समय से पीने के पानी की कमी का सामना कर रहे हैं। लोग कहते हैं कि पानी की आपूर्ति में बदबू आती है, सबमर्सिबल पंप ने जवाब दिया है लेकिन हमारे पास कोई सुनने वाला नहीं है। स्थानीय निवासियों के अनुसार, उन्होंने पार्षदों, […]

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बर्रा दक्षिण क्षेत्र में लोग लंबे समय से पीने के पानी की कमी का सामना कर रहे हैं। लोग कहते हैं कि पानी की आपूर्ति में बदबू आती है, सबमर्सिबल पंप ने जवाब दिया है लेकिन हमारे पास कोई सुनने वाला नहीं है। स्थानीय निवासियों के अनुसार, उन्होंने पार्षदों, महापौरों, जल विभाग के अधिकारियों, सभी से अपील की, लेकिन किसी ने भी उनकी समस्याओं का ध्यान रखना सही नहीं समझा
पानी के संकट के बाद जिन लोगों ने आवाज उठाई है उनमें भाजपा की बूथ अध्यक्ष ज्योति तिवारी की महिला 70 भी शामिल हैं। लोगों का यह भी कहना है कि अगर उन्हें साफ पानी मुहैया नहीं कराया जाता है, तो वे सुविधाओं के नाम पर दिए जाने वाले हाउस टैक्स, वाटर टैक्स का भुगतान भी रोक देंगे।

कठिनाइयों पर स्थानीय लोगों ने क्या कहा?
बर्रा साउथ की रहने वाली ज्योति तिवारी कहती हैं, “हम लोगों को अक्सर पानी नहीं मिल पाता। सप्लाई की गई पानी की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई है। चैंबर लाइन भी इसके बगल में आ गई है, जो पानी आता है, उसमें कीड़े और बदबू आती है। हम सभी लोगों से अपील की लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। गर्मी के मौसम में पानी के अभाव के कारण लोगों की स्थिति बेहाल हो रही है।

‘वोट के बाद नेताओं को नेताओं से मतलब नहीं’
मूल निवासी मंजू तिवारी कहती हैं, ‘एक बार जब पानी 12 बजे आता है, तो 1 बजे, कभी भी नहीं आता है। पानी की सुविधा या सफाई व्यवस्था नहीं है। वोट के समय पार्षद भी दिखाई देते हैं, विधायक और सांसद भी। इसके बाद जनता से किसी को कोई मतलब नहीं है। ‘कानपुर के बर्रा दक्षिण क्षेत्र के वार्ड 70 के निवासी अविनाश विश्वकर्मा कहते हैं, “चैंबर भरा होने के कारण गंदा मिश्रण अलग है। हम ढेर सारी बीमारियों के बीच जीने को मजबूर हैं।”

बीमारी फैलने वाली है
वेड 70 निवासी सोनू शुक्ला कहते हैं, “हमारे पास छोटे बच्चे हैं। पानी की कमी है, नालियों में गंदगी भरी हुई है। सफाई के नाम पर, जिम्मेदार अधिकारी कुछ नहीं करते हैं। हर दिन पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है। ‘