Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / पी. चिदंबरम के बाद ईडी के दफ्तर में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे

पी. चिदंबरम के बाद ईडी के दफ्तर में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे

मुंबई: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे को आज ‘कोहिनूर सीटीएनएल-आईएल ऐंड एफएस’ मामले में ईडी के सामने पेश होना है. राज ठाकरे अपने पूरे परिवार के साथ ईडी के दफ्तर के लिए निकल गए हैं. उल्लेखनीय है कि कोहिनूर सीटीएनएल इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में आईएल ऐंड एफएस द्वारा 450 करोड़ रूपये की इक्विटी निवेश और ऋण से […]

मुंब: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे को आज ‘कोहिनूर सीटीएनएल-आईएल ऐंड एफएस’ मामले में ईडी के सामने पेश होना है. राज ठाकरे अपने पूरे परिवार के साथ ईडी के दफ्तर के लिए निकल गए हैं. उल्लेखनीय है कि कोहिनूर सीटीएनएल इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में आईएल ऐंड एफएस द्वारा 450 करोड़ रूपये की इक्विटी निवेश और ऋण से जुड़ी कथित अनियमियतताओं की जांच के सिलसिले में ईडी ने राज ठाकरे को नोटिस जारी किया है.

महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना ने राज ठाकरे का समर्थन किया है. इस बीच मुंबई पुलिस की ओर से ठाणे में अविनाश जाधव समेत मनसे के कई बड़े नेताओं को हिरासत में लिया गया है. पुलिस ने ईडी के दफ्तर के बाहर धारा 144 लगा दी है. मनसे ने राज ठाकरे की पेशी को बदले की कार्रवाई बताया है.

ईडी ऑफिस के चारों तरफ पुलिस की बैरिकेटिंग

राज ठाकरे की पेश से पहले आज मुंबई पुलिस ने ऐहितिहातन तौर पर मनसे के बड़े पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है. मनसे कार्यकर्ताओ का आरोप है कि रात भर घर के बाहर पुलिस खड़े रही और फोन करती रही. यह मानसिक प्रताड़ना है. बताया जा रहा है कि ईडी ऑफिस के आस पास चारों तरफ पुलिस की बैरिकेटिंग की गई है. मनसे के विरोध को देखते हुए मुंबई के हर बड़े चौराहे और प्रमुख सड़कों पर पुलिस मौजूद है. किसी विपरित परिस्थिती के लिए पुलिस तैनात है. हेलमेट, लाठी कवर के साथ सिपाही सड़कों पर मौजूद हैं.