Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / गरीबो को रोजगार देने वाला एक्ट महात्मा गाँधी मनरेगा चढ़ा भ्रस्टाचार की भेंट

गरीबो को रोजगार देने वाला एक्ट महात्मा गाँधी मनरेगा चढ़ा भ्रस्टाचार की भेंट

  हसनगंज उन्नाव | भले ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार उत्तर प्रदेश को भ्रस्टाचार मुक्त कर उत्तम प्रदेश बनाने के भागीरथी प्रयास कर रही हो पर प्रदेश के भ्रस्टाचारी है कि मानने को तैयार ही नही और लगातार नए नए भ्रस्टाचार सामने आ रहे है ताजा मामला उन्नाव की विकासखण्ड हसनगंज की पमेधिया ग्राम […]

 

हसनगंज उन्नाव | भले ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार उत्तर प्रदेश को भ्रस्टाचार मुक्त कर उत्तम प्रदेश बनाने के भागीरथी प्रयास कर रही हो पर प्रदेश के भ्रस्टाचारी है कि मानने को तैयार ही नही और लगातार नए नए भ्रस्टाचार सामने आ रहे है

ताजा मामला उन्नाव की विकासखण्ड हसनगंज की पमेधिया ग्राम पंचायत का है जहाँ के प्रधान ने महात्मा गाँधी मनरेगा एक्ट में दर्जनों लोगों के फर्जी नाम डाल कर लाखो रुपये एक्ट से निकाल लिए।
इस एक्ट के अन्तर्गत गांव के लोगो के जॉब कार्ड बनवा कर उन्हें काम दिया जाता है काम करवाने के बाद मजदूरी के रूप में इस एक्ट से भुगतान किया जाता है पर प्रधान ने फर्जी तरीके से ऐसे लोगो के नाम डाले जो कभी भी काम करने नही जाते और उनके खाते में रुपये पहुच जाते है।कुछ तो ऐसे लोगो के भी नाम है जो गाँव से बाहर अन्य प्रदेसो में नोकरी करते है पर उनका भी पैसा निकाला जा रहा है बस इन खाता धारकों को कुछ रुपये दे दिए जाते है और बैंक से रुपये निकलवा लिए जाते है।
इस भ्रस्टाचार की शिकायत खण्ड विकास अधिकारी से लेकर जिलाधिकारी तक कि गई है।जिस पर उपजिलाधिकारी हसनगंज प्रदीप वर्मा ने जांच कर कड़ी कार्यवाही करवाने की बात कही है।

Report By : Raghvendra Singh & Upendra Tripathi