Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / बंदरबांट की नहीं हुई सुनवाई तो देना पड़ा ज्ञापन

बंदरबांट की नहीं हुई सुनवाई तो देना पड़ा ज्ञापन

संवाददाता- अभिषेक मिश्रा मनियर बलिया । पूर्व में दिये गये शिकायती पत्र में जाँच टीम गठित कर जाँच के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने से नाराज नगर पंचायत मनियर के दो तिहाई सभासदों ने जिलाधिकारी बलिया के जन सुनवाई दरबार में सोमवार को फिर ज्ञापन सौंपा। चेतावनी दी कि नगर पंचायत में […]

संवाददाता- अभिषेक मिश्रा

मनियर बलिया । पूर्व में दिये गये शिकायती पत्र में जाँच टीम गठित कर जाँच के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने से नाराज नगर पंचायत मनियर के दो तिहाई सभासदों ने जिलाधिकारी बलिया के जन सुनवाई दरबार में सोमवार को फिर ज्ञापन सौंपा। चेतावनी दी कि नगर पंचायत में सरकारी धन का बन्दर बाट करने वाले पर एक सप्ताह के अंदर कारवाई नहीं हुई तो अगामी सात मार्च को सांकेतिक धारना प्रदर्शन किया जायेगा। जिसकी पुरी जिम्मेदारी प्रशासन को होगी।

नगर पंचायत मनियर के दो तिहाई सभासद अमरेन्द्र कुमार सिंह, प्रभावती देवी, शिल्पी देवी, उषा देवी, अमित कुमार सिंह, इफतेखार अहमद, गायत्री देवी, प्रमिला देवी, गिरिजा शंकर राय, घन जी प्रजापति, विनय कुमार जयसवाल ने सोमवार को जिलाधिकारी बलिया को दिये गये शिकायती पत्र में कथित तौर पर आरोप लगाया है कि नगर पंचायत के चेयरमैन द्वारा सरकारी धन के दुरुपयोग किये जाने की शिकायती पत्र हम सभासदों द्वारा विगत वर्ष बीस अगस्त को सौपा गया। जिसमें तत्कालीन जिलाधिकारी ने तृस्तरीय जाँच टीम गठित कराकर जाँच करायी ।

जाँच में अनियमितता भी पायी गयी। पत्र में यह भी दर्शाया गया कि जाँच के बाद भी दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण सरकारी धन का बन्दर बाट किया जा रहा है। शिकायतकर्ताओ ने यह भी आरोप लगाया कि एक वर्ष से कोई भी बोर्ड की बैठक भी जिम्मेदारों द्वारा नही बुलायी गयी।विना बोर्ड के बैठक कराये ही चौदह वाँ वित आयोग का प्रस्ताव भी आप के समक्ष प्रस्तुत करके स्वीकृति करा लिया गया।

सभासदो ने यह भी दर्शाया है कि नगर पंचायत में नियमित व संविदा पर कुल पचीस कर्मचारी होने के बाद भी 54 ठेका पर कर्मचारी रखकर बगैर काम किये अपने कार्यकर्ताओं को सरकारी धन का बन्दर बाट किया जा रहा है। सभासदो ने शिकायत पत्र के माध्यम से चेतावनी दी कि नगर पंचायत मे सरकारी धन का हो रहे दुरूपयोग की जाँच कर धन का बन्दर बाट करने वाले जिम्मेदारों पर एक सप्ताह के अंदर कारवाई नहीं हुई तो अगामी सात मार्च को धारना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य है।