Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / मुख्यमंत्री के निर्देशों की धज्जियां उड़ा रही नगर पंचायत जैदपुर

मुख्यमंत्री के निर्देशों की धज्जियां उड़ा रही नगर पंचायत जैदपुर

जैदपुर कस्बे में सड़क पर पशुओं के झुंड से वाहन चालक व लोग हो रहे परेशान मुख्यमंत्री के निर्देशो का खंडन करती नगर पंचायत जैदपुर कस्बे जैदपुर में सड़क पर पशुओं के झुंड से वाहन चालक व लोग हो रहे परेशान बाराबंकी। कस्बे में आवारा पशुओं की समस्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. […]

जैदपुर कस्बे में सड़क पर पशुओं के झुंड से वाहन चालक व लोग हो रहे परेशान

मुख्यमंत्री के निर्देशो का खंडन करती नगर पंचायत जैदपुर

कस्बे जैदपुर में सड़क पर पशुओं के झुंड से वाहन चालक व लोग हो रहे परेशान

बाराबंकी। कस्बे में आवारा पशुओं की समस्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. जैदपुर के सभी 17 वार्डो के हर एक मोहल्लो का यही हाल है. रात के समय कई बार वाहन चालक इन्हें देख न पाने की वजह से दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं. इसके अलावा यह आवारा पशु खेतों में घुसकर फसल को भी बर्बाद कर रहे है, जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है.

सो रही नगर पंचायत, घायल हो रहे लोग 

नगर पंचायत के मोहल्ला अहिरान मे अभी कुछ ही दिन पहले कुएं मे आवारा पशु के गिरने पूरे मोहल्ले में अफरा तफरी हो गयीं थी लेकिन दु:ख की बात नगर पंचायत ने उस चोटिल जानवर को यूही छोड दिया. अक्सर ये पशु आपस में झगड़ते रहते हैं, जिससे कई बार बुजुर्ग और बच्चे चोटिल हो जाते हैं. पशुओं के अचानक रोड पर आने से कई बार वाहन चालक भी चोटिल हो जाते हैं. संरक्षण के अभाव में ये इधर-उधर भटकते रहते हैं.

शिकायत के बाद भी नहीं हो रही कार्यवाही

गर पंचायत जैदपुर मे शिकायत की कार्यवाही नहीं होने पर फिर मुख्यमंत्री पोस्ट पर भी शिकायत दर्ज करानी पडी. सभासद ताहिर अंसारी ने कहा कि नगर पंचायत के लिपिक प्रदीप कुमार इस ओर ध्यान देना मुनासिब नही समझते. जब कि जिला अधिकारी ने कई सप्ताह पहले आवारा पशु को पकडने का निर्देश दिया था. लेकिन नगर पंचायत जैदपुर अभी तक एक भी पशु नही पकडा है. आवारा मवेशियों की संख्या अधिक होने के कारण अक्सर ये झुंड बनाकर मुख्य मार्ग पर डेरा डाल देते हैं. ऐसे में कई बार वाहन चालकों को वाहन से नीचे उतर कर इन्हें हटाना पड़ता है. भीड़भाड़ और व्यस्ततम मार्ग पर पशुओं का जमावड़ा होने से कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित हो सकता है. लेकिन नगर पंचायत और प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है, जिससे आवारा पशुओं की समस्या का समाधान नहीं हो रहा है. 

जबकि इन पशुओं के जमघट के चलते कई बार मुख्य बाजार में अफरा तफरी मच जाती है. कस्बे के मुख्य मार्गों से गली, मोहल्लों में इसी तरह के हालात बने रहते हैं. इस संबंध में कई बार स्थानीय लोगों द्वारा जनप्रतिनिधियों से लेकर नगर पंचायत के अधिकारियों से कई बार शिकायत चुके हैं. इसके बाद भी हालातों में सुधार नहीं हो रहा है.

REPORT BY- ABU TALHA (BARABANKI)