Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / मिर्जापुर: किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए एनडीए सरकार का ऐतिहासिक फैसला

मिर्जापुर: किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए एनडीए सरकार का ऐतिहासिक फैसला

किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए एनडीए सरकार ने 22 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को फसल की लागत से डेढ़ गुना करने का ऐतिहासिक फैसला किया: अनुप्रिया पटेल, केंद्रीय मंत्री एनडीए सरकार ने नीम कोटिंग के जरिए अरबों रुपए की कालाबाजारी रोकी: अनिल राजभार, उत्तर प्रदेश मंत्री पांच साल में एनडीए […]

  • किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए एनडीए सरकार ने 22 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को फसल की लागत से डेढ़ गुना करने का ऐतिहासिक फैसला किया: अनुप्रिया पटेल, केंद्रीय मंत्री
  • एनडीए सरकार ने नीम कोटिंग के जरिए अरबों रुपए की कालाबाजारी रोकी: अनिल राजभार, उत्तर प्रदेश मंत्री
  • पांच साल में एनडीए सरकार ने कृषि बजट में 80 प्रतिशत वृद्धि की: ब्रजभूषण सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष

मिर्जापुर: सोमवार को जनपद के कैलहट स्थित राजकीय पीजी कॉलेज में भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा द्वारा विजय संकल्प किसान महासम्मेलन का आयोजन किया गया । इस  मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर उत्तर प्रदेश के होमगार्ड व सैनिक कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  अनिल राजभर उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा के जिलाध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह एवं कार्यक्रम का संचालन किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष संतोष तिवारी ने किया। कार्यक्रम के दौरान भाजपा, अपना दल (एस) और निषाद पार्टी की संयुक्त प्रत्याशी एवं केंद्रीय मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने  कहा, “किसानों को आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए सरकार ने 22 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को फसल की लागत से डेढ़ गुना करने का ऐतिहासिक फैसला किया है। अन्नदाता किसानों की आय दो गुना करने के लिए हमारी सरकार प्रयत्नशील है। कृषि उपकरण और  बीज खरीदने से लेकर बाजार में कृषि उत्पाद पहुंचाने और बेचने तक की प्रक्रिया में किसानों को अधिक से अधिक सुविधा मिले, यह सरकार की प्राथमिकता है।”

मुख्य अतिथि  अनिल राजभर ने कहा कि, “देशभर का अन्नदाता यदि बदहाल था तो इसमें केवल एक पार्टी कांग्रेस का योगदान रहा। पहली बार श्री नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के समग्र विकास की रूप रेखा बनाई। पहले किसान यूरिया के लिए दरदर भटकता था, लेकिन जब से केंद्र में नरेंद्र मोदी जी की सरकार आई, सरकार ने यूरिया को नीम कोटेड किया है, तब से किसानों को आसानी से यूरिया उपलब्ध है। फलस्वरूप अरबों रुपए की कालाबाजारी खत्म हो गई।”

भाजपा, अपना दल (एस) और निषाद पार्टी की संयुक्त प्रत्याशी श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कहा कि, “चिलचिलाती धूप, मूसलाधार बारिश या बर्फबारी में, हर परिस्थिति में हमारे देश का किसान दिन रात एक करके खाद्यान्न का रिकार्ड उत्पादन करता है, ऐसे अन्नदाता किसानों की आय दो गुना करने के लिए हमारी सरकार प्रयत्नशील है। किसानों को मिट्टी की सेहत की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने 17 करोड़ से ज्यादा सॉयल हैल्थ कार्ड बांटे हैं। खाद की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए और यूरिया के दुरूपयोग को रोकने के लिए यूरिया की 100 परसेंट नीम कोटिंग की गई है।  अनुप्रिया पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कम प्रिमियम पर फसलों का बीमा किया जा रहा है। किसान को फसल बेचने में आसानी हो, इसके लिए देश की 1500 से ज्यादा कृषि मंडियों को ऑनलाइन जोड़ा जा रहा है।  अनुप्रिया पटेल ने कहा कि ये सारे प्रयास हमारी कृषि व्यवस्था में स्थायी बदलाव लाएंगे और किसानों को सशक्त करेंगे। इसके अलावा किसानों को मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत सलाना 6000 रुपए देना शुरू किया है।”

भाजपा के जिलाध्यक्ष श्री ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि, “एनडीए सरकार ने कृषि बजट में 80 प्रतिशत तक वृद्धि की, जो कि सराहनीय है।” उन्होंने कहा कि आगामी 2022 तक किसानों की आय दो गुना करने का लक्ष्य रखा गया है।

इस मौके पर भाजपा के विधायक  रत्नाकर मिश्रा, विधायक  रमाशंकर सिंह पटेल, लोकसभा प्रभारी  सीताशरण त्रिपाठी, लोकसभा संयोजक  विंद्रा प्रसाद विश्वकर्मा, अपना दल (एस) के प्रदेश अध्यक्ष  राजेंद्र पाल, भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य  लाल बहादुर सिंह, राजबहादुर सिंह, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष  राजेंद्र सिंह पटेल, नगर पालिका अध्यक्ष मिर्जापुर  मनोज जायसवाल, जिला महामंत्री  आशुकांत चुनाहे एवं  रमेश दूबे, भाजपा जिला उपाध्यक्ष हरिशंकर सिंह पटेल, मंडल अध्यक्षत कैलहट  घनश्याम सिंह, अपना दल (एस) के वरिष्ठ पदाधिकारी मेघनाद पटेल, डॉ.अनिल सिंह पटेल,  अशोक सिंह,  धनंजय सिंह,  भगवान दास,  उदय पटेल, भाजपा के मंडल अध्यक्ष चुनार नंदलाल केसरी, दिनेश वर्मा, जयसिंह, अमित सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष  उत्तर मौर्या,  प्रदीप सोनकर, जगदीश सिंह,  निर्मला राय, प्रियंका सिंह,  अंजना सिंह,  रायचंद दूबे, श्याम सुंदर केसरी,  संजय यादव, कौशल श्रीवास्तव इत्यादि वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे।