Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / पाकिस्तान ने फिर से बंद किया अपना एयरस्पेस, पिछला नुकसान भूल गया पाक

पाकिस्तान ने फिर से बंद किया अपना एयरस्पेस, पिछला नुकसान भूल गया पाक

रिपब्लिक डेस्क :  पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत के लिए अपना एयरस्पेस फिर से बंद करने की धमकी दी. उसने आज कराची एयरस्पेस को 31 अगस्त तक आंशिक तौर पर बंद रखने का ऐलान भी कर दिया. अभी मुश्किल से डेढ़ महीने ही हुए जब उसने बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद बंद किया अपना एयरस्पेस फिर […]

रिपब्लिक डेस्क :  पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत के लिए अपना एयरस्पेस फिर से बंद करने की धमकी दी. उसने आज कराची एयरस्पेस को 31 अगस्त तक आंशिक तौर पर बंद रखने का ऐलान भी कर दिया. अभी मुश्किल से डेढ़ महीने ही हुए जब उसने बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद बंद किया अपना एयरस्पेस फिर से खोला था. तब 138 दिनों के एयरस्पेस क्लोजर से भारत के साथ-साथ पाकिस्तान को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा था और पाकिस्तान ने फिर से इसी ओर कदम बढ़ाया तो दोनों देशों को दोबारा घाटा सहने को तैयार रहना पड़ेगा. सवाल है कि क्या पाकिस्तान गर्त में गई अपनी अर्थव्यवस्था को नीचे की और एक और धक्का देगा?

पिछली बार हुआ था किसे, कितना नुकसान

बहरहाल, यह जानना जरूरी है कि पिछले 138 दिनों की बंदी में पाकिस्तान को 5 करोड़ डॉलर (करीब 360 करोड़ रुपये) का नुकसान उठाना पड़ा था. उसे यह नुकसान ओवरफ्लाइंग चार्ज के रूप में हुआ. वहीं अकेले एयर इंडिया को 560 करोड़ रुपये ज्यादा खर्च करने पड़े थे. इसके अलावा, इंडिगो, स्पाइसजेट और गोएयर को भी 60 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

बढ़ जाती है संचालन लागत

पाकिस्तान का एयरस्पेस बंद होने के बाद भारत से दक्षिण एशिया और यूरोप के विभिन्न हिस्सों में आनेजाने वाले विमानों को लंबा रूट लेना पड़ता है. उन्हें पाकिस्तान की बजाय मुंबई-अरब सागर-मस्कट-खाड़ी का रूट और इससे इतर रूट लेना पड़ता है. इससे पूर्वी तट से उड़ान भरने वाले विमानों को अमेरिका जाने का वक्त बढ़ जाता है और उन्हें ईंधन भरवाने के लिए पहले से ज्यादा स्टॉपेज भी लेना पड़ता है. इससे विमानन कंपनियों का खर्च बढ़ जाता है. इसलिए कई कंपनियां चुनिंदा रूटों पर उड़ानें बंद कर देती हैं.

पाकिस्तानी बैन से निपटने को तैयार है भारत

एयर इंडिया के एक पायलट ने कहा, ‘हम 5 अगस्त को (आर्टिकल 370 हटाने के दिन) से ही तैयार हैं. हम पिछली रणनीति ही अपनाएंगे.’ हालांकि, सरकार को इस प्लान को लागू करने के लिए एयर इंडिया का अतिरिक्त खर्च उठान पड़ेगा. ध्यान रहे कि तेल कंपनियों ने बकाया नहीं मिलने के कारण पिछले हफ्ते छह एयरपोर्ट्स पर एयर इंडिया को ईंधन देना बंद कर दिया था. भारत की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो भी नई परिस्थिति से निपटने को पूरी तरह तैयार है. उसने अतिरिक्त खर्च से निपटने का खाका भी खींच रखा है.


यह भी पढ़ें…

बीजेपी मुख्यालय में लाया गया अरुण जेटली का पार्थिव शरीर, लोगो का लगा हुजूम

10 बातों से जानिए आखिर क्यों बाकी नेताओं से अलग थे अरूण जेटली

वित्त, कार्पोरेट मामले समेत कई मंत्रालय संभालने वाले अरूण जेटली का कुछ ऐसा रहा जीवन