Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / प्रयागराज : कौशांबी में 10 शिक्षक बर्खास्त, फर्जी डिग्री लगा कर रहे थे नौकरी

प्रयागराज : कौशांबी में 10 शिक्षक बर्खास्त, फर्जी डिग्री लगा कर रहे थे नौकरी

प्रयागराज, जेएनएन। कई सालों से कौशांबी जिले में नौकरी कर रहे 10 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी व कूटरचित मिले. स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआइटी) की जांच रिपोर्ट आने के बाद बीएसए ने कार्रवाई करते हुए इन शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया है. सभी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के बाद उनसे अब तक मिले वेतन की […]

प्रयागराज, जेएनएन। कई सालों से कौशांबी जिले में नौकरी कर रहे 10 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी व कूटरचित मिले. स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआइटी) की जांच रिपोर्ट आने के बाद बीएसए ने कार्रवाई करते हुए इन शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया है. सभी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने के बाद उनसे अब तक मिले वेतन की रिकवरी होगी.

फर्जी डिग्रियों की जांच एसआइटी कर रही

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा से वर्ष 2004-05 बीएड की बड़ी संख्या में फर्जी डिग्रियों जारी हुई थीं. इन डिग्रियों से प्रदेश में सैकड़ों लोग शिक्षक पद की नौकरी कर रहे हैं. शासन स्तर पर इसकी शिकायत हुई तो सरकार ने एसआइटी को इसकी जांच के निर्देश दिए. करीब दो सालों से एसआइटी पूरे प्रदेश में डिग्रियों की जांच कर रही है. कौशांबी में भी एसआइटी ने करीब एक साल पहले 10 शिक्षकों की डिग्री को फर्जी व कूटरचित पाया. इसके बाद से सभी की गहनता से जांच हुई और मामला सही मिला.

एसआइटी ने शिक्षकों की सूची बीएसए को भेजी

राजफाश होने पर एसआइटी ने ऐसे शिक्षकों की सूची बीएसए को भेजी थी. करीब एक माह पहले सूची बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय को मिल गई थी. इस पर मंथन के बाद बीएसए अरङ्क्षवद कुमार ने सोमवार को 10 शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया.

बोले बीएसए, केस दर्ज कर वेतन की होगी रिकवरी

बीएसए कौशांबी अरङ्क्षवद कुमार कहते हैं कि एसआइटी की जांच में जिले के 10 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी व कूटरचित मिले थे. इन शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया है. सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के बाद वेतन की रिकवरी की कार्रवाई होगी.

इन शिक्षकों पर गिरी है गाज

कूटरचना

बृजेश सिंह सहायक अध्यापक पूर्व माध्यमिक विद्यालय चकसतारगंज, कुमारी सहायक अध्यापक, रावेंद्र सिंह प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय बरौलहा सरसवां, सुधीर कुमार प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय पूरब शरीरा प्रथम सरसवां, सुरजीत सिंह सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय बाकरगंज सरसवां.

फर्जी डिग्री

अर्चना देवी सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय दीवर मंझनपुर, पुष्पराज ङ्क्षसह प्राथमिक विद्यालय खनवारी सिराथू, अर्चना सिंह सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय ननई का पूरा सरसवां, लवलेश द्विवेदी सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय पूरे घोघ सरसवां व नूतन कुमारी  सहायक अध्यापक पूर्व माध्यमिक विद्यालय गौसपुर टिकरी मंझनपुर.


 यह भी पढ़ें…

गोरखपुर : जूनियर इंजीनियर की आर-पार की लड़ाई, कहा- महंगी बिजली खरीद रहा विभाग

एलबीएस कॉलेज में सख्ती के चलते 261 परिक्षार्थियों ने छोड़ी परीक्षा: डाॅ0 वंदना सारस्वत

शुक्लागंज : पति-पत्नी के बीच मामूली बातों पर झगड़ा, पति ने पिया केरोसीन