प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भोजपुरी बुलवाएंगे रवि किशन!

PAGE-3 | भोजपुरी अभिनेता से नेता बने रवि किशन ने सोमवार को कहा कि वह भोजपुरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बायोपिक बनाना चाहते हैं। उत्तरप्रदेश के गोरखपुर लोकसभा सीट से भाजपा सांसद रवि किशन ने यहां संवाददाताओं से कहा कि साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खुले में शौच को खत्म करने की बात से मैं उनसे बहुत प्रभावित हुआ और पीएम मोदी के व्यक्तित्व के कारण मैंने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया।

उन्होंने कहा ‘मैं एक ऐसे गाँव से आता हूं जहां घरों में शौचालय नहीं थे। मैंने अपनी मां और अन्य महिलाओं को इसके कारण स्वास्थ्य समस्याएं और तिरस्कार को झेलते हुए देखा है। जब मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा दिया और खुले में शौच को समाप्त किया, तब मैंने महसूस किया कि यहां एक ऐसे व्यक्ति हैं जो एक ऐसे मुद्दे के बारे में बोल रहे हैं जो मेरे दिल के करीब है।’

रवि किशन ने आगे कहा ‘मैं बिहार के लोगों का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे फिल्मी दुनिया में पहचान दिलवाई और भोजपुरी के साथ-साथ मैंने तेलुगु और तमिल सहित कई भाषाओं की फिल्मों में अभिनय किया है। मुझे यहां के लोगों के साथ एक विशेष जुड़ाव महसूस होता है।’

आगे उन्होंने मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘भारत माता की जय जैसे नारों के जरिए उन्होंने देश के लोगों में राष्ट्र के प्रति गौरव पैदा किया है। दुर्भाग्य से, हम आजादी के बाद के युग में इस विरासत से अब तक दूर रह रहे थे। अब धारा 370 पर कार्रवाई के जरिए नेहरू के दोषों को सुधारा जा रहा है।’

उन्होंने कहा ‘आज हम चीन को अपने घुटनों पर ले आए हैं जबकि पाकिस्तान को भीख मांगने के लिए छोड़ दिया गया है। मुझे यकीन है कि मोदी और अमित शाह के गतिशील नेतृत्व में, हम पड़ोसी देश पाकिस्तान द्वारा गलत तरीके से कब्जा किए गए अधिकृत कश्मीर जो हमारा है, उसको वापस पाने में जल्द ही कामयाब होंगे।’

रवि किशन ने यह स्पष्ट करते हुए बताया कि वह क्यों नहीं अपने ऐक्टिंग करियर को छोड़ रहे हैं..उन्होंने कहा ‘अब मैं नाचने गाने से संन्यास ले लूंगा लेकिन फिल्मों से नहीं, आगे 2-3 फिल्म महापुरुषों की जीवनी पर करूंगा। मैं भोजपुरी में मोदी पर एक बायोपिक बनाना चाहता हूं। एक अभिनेता के रूप में, मुझे पता है कि हमारे नेता का चित्रण कैसे किया जा सकता है।’

किशन ने कहा ‘मैं बिहार और उत्तर प्रदेश के क्रांतिकारी स्वतंत्रता सेनानियों पर भोजपुरी फिल्में बनाना चाहता हूं। मुझे खुशी है कि उत्तरप्रदेश में लंबे समय से भोजपुरी सिनेमा प्रोत्साहन प्रदान किया जा रहा है और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार भी इसी तरह के लाभ देने के लिए सहमत हुई है।’

उन्होंने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि ‘लगभग पचास से साठ हजार परिवार अपनी आजीविका के लिए भोजपुरी सिनेमा पर निर्भर हैं।’ इसके साथ ही रवि किशन ने बिहार सरकार से आग्रह किया कि ‘महाराष्ट्र की तरह, जहां सिनेमा हॉल में मराठी फिल्मों के एक शो की स्क्रीनिंग अनिवार्य कर दी गई है, यहां भी उसी तरह भोजपुरी फिल्मों को सिनेमा हॉल में एक शो की स्क्रीनिंग दी जाएं। इससे भोजपुरी फिल्म उद्योग को बहुत बढ़ावा मिलेगा।’

2014 में अपने गृह जिले जौनपुर से कांग्रेस के टिकट पर असफल चुनावी सफर की शुरुआत करने वाले किशन से राहुल गांधी को भोजपुरी सिखाने के बारे पूछे जाने पर उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा ‘जिंदगी झंड बा।’

229 Post Views
The Republic India

alok singh jadaun

Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गरीबों को रोजगार देने वाला एक्ट महात्मा गांधी चढ़ा भ्रष्टाचार की भेंट 

Tue Sep 10 , 2019
  हसनगंज | भले ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त कर उत्तम प्रदेश के बनाने के भागीरथी प्रयास कर रही हो पर प्रदेश के भ्रष्टाचारी है कि मानने को तैयार ही नहीं और लगातार नए नए भ्रष्टाचार सामने आ रहे हैं। ताज़ा मामला उन्नाव की […]


The Republic India News Group Websites:

Hindi News     English News    Corporate Wesbite    

Social Media