Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / रोहित – ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम एकदिवसीय मैच में विराट का बल्ला, ये रिकॉर्ड भी सील

रोहित – ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम एकदिवसीय मैच में विराट का बल्ला, ये रिकॉर्ड भी सील

रविवार को बेंगलुरु में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए अंतिम एकदिवसीय मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराकर सीरीज पर भी कब्जा कर लिया। दोनों बल्लेबाज शानदार फॉर्म में दिखे जहां ऑस्ट्रेलियाई टीम इस जोड़ी को तोड़ने में पूरी तरह से विफल रही। ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 287 […]

final ODI against Australia
final ODI against Australia

रविवार को बेंगलुरु में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए अंतिम एकदिवसीय मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराकर सीरीज पर भी कब्जा कर लिया। दोनों बल्लेबाज शानदार फॉर्म में दिखे जहां ऑस्ट्रेलियाई टीम इस जोड़ी को तोड़ने में पूरी तरह से विफल रही। ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 287 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे टीम इंडिया ने 47.3 ओवरों में ही चेज कर दिया।

इस दौरान रोहित और विराट ने बड़े रिकॉर्ड भी अपने नाम किए। भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय शतक बनाने के मामले में अपने कप्तान विराट कोहली की बराबरी कर ली है। रोहित ने यहां आयोजित तीसरे वनडे मैच में 119 रन बनाए। यह उनके करियर का 29 वां और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आठवां शतक है। कोहली ने कंगारुओं के खिलाफ 8 शतक भी लगाए हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर (9) हैं। रोहित अपनी पारी के दौरान वनडे क्रिकेट में 9000 रन बनाने वाले तीसरे सबसे तेज बल्लेबाज बन गए।

दूसरी तरफ, अगर हम विराट की बात करें, तो वह वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाने वाले कप्तान बन गए हैं। कोहली को इस उपलब्धि तक पहुंचने के लिए केवल चार रनों की आवश्यकता थी और उन्होंने रविवार को यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और निर्णायक वनडे मैच में यह उपलब्धि हासिल की।

कोहली ने 82 पारियों में कप्तान के रूप में एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाने का रिकॉर्ड हासिल किया है, जबकि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 127 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग इस मामले में तीसरे नंबर पर हैं। उन्होंने कप्तान के रूप में 131 पारियों में 5000 रन बनाए, जबकि दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ की 135 पारियों में यह उपलब्धि है। पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने वनडे में कप्तान के रूप में 136 पारियों में 5000 रन बनाए थे।