होम / वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का निधन, पीएम और गृहमंत्री ने जताया दुख

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का निधन, पीएम और गृहमंत्री ने जताया दुख

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया राम जेठमलानी लंबे समय से बीमार थे और एक हफ्ते से बेड पर थे आज शाम लोधी गार्डन श्मशान में होगा अंतिम संस्कार राम जेठमलानी के निधन पर पीएम मोदी और अमित शाह ने दुख व्यक्त किया गृह मंत्री अमित शाह ने […]

  • वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया
  • राम जेठमलानी लंबे समय से बीमार थे और एक हफ्ते से बेड पर थे
  • आज शाम लोधी गार्डन श्मशान में होगा अंतिम संस्कार
  • राम जेठमलानी के निधन पर पीएम मोदी और अमित शाह ने दुख व्यक्त किया
  • गृह मंत्री अमित शाह ने राम जेठमलानी के घर पहुंचकर दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया है. राम जेठमलानी लंबे समय से बीमार थे. राम जेठमलानी लगभग एक हफ्ते से बहुत ज्यादा बीमार थे और अपने बेड से भी नहीं उठ पा रहे थे. बीमारी के कारण बेहद कमजोर भी हो गए थे. देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू कुछ ही देर में राम जेठमलानी के घर जाएंगे. राम जेठमलानी के बेटे महेश ने बताया कि उनका (राम जेठमलानी) अंतिम यात्रा आज शाम को लोधी रोड श्मशान में किया जाएगा.

मशहूर वकील और पूर्व कानून मंत्री राम जेठमलानी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख व्यक्त किया है. नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किय, राम जेठमलानी जी के निधन से, भारत ने एक असाधारण वकील और प्रतिष्ठित सार्वजनिक व्यक्ति को खो दिया. राम जेठमलानी ने न्यायालय और संसद दोनों में समृद्ध योगदान दिया है. वह मजाकिया, साहसी और कभी भी किसी भी विषय पर साहसपूर्वक बोलने से नहीं कतराते थे.

पीएम मोदी ने कहा, श्री राम जेठमलानी जी के सबसे अच्छे पहलुओं में से एक उनके मन की बात कहने की क्षमता थी और, उन्होंने बिना किसी डर के ऐसा किया. आपातकाल के काले दिनों के दौरान, उनकी स्वतंत्रता और सार्वजनिक स्वतंत्रता के लिए लड़ाई को याद किया जाएगा. जरूरतमंदों की मदद करना उनके व्यक्तित्व का एक अभिन्न हिस्सा था.

राम जेठमलानी को श्रद्धांजलि देने गृह मंत्री अमित शाह उनके घर पहुंचे. यहां उन्होंने राम जेठमलानी को श्रद्धांजलि दी और राम जेठमलानी के निधन पर दुख प्रकट किया. अमित शाह ने ट्वीट किया, हमने एक प्रतिष्ठित वकील के साथ एक महान मानव को खो दिया.

अमित शाह ने कहा, राम जेठमलानी जी का निधन पूरे कानून से जुड़े लोगों के लिए एक अपूरणीय क्षति है. कानूनी मामलों पर उनके विशाल ज्ञान के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा. शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी संवेदना.

केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी राम जेठमलानी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए लिखा, अनुभवी वकील और पूर्व कानून मंत्री राम जेठमलानी के निधन पर बेहद दुखी हूं. उनकी प्रतिभा, वाक्पटुता, शक्तिशाली वकालत और कानून की समझ कानूनी पेशे में एक योग्य उदाहरण बनी रहेगी. मेरी गहरी संवेदना.

राम जेठमलानी के निधन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख व्यक्त किया है. अरविंद केजरीवाल ने कहा, अपने आप में एक संस्था, उन्होंने स्वतंत्रता के बाद के भारत में आपराधिक कानून को आकार दिया. उसका शून्य कभी नहीं भरा जाएगा और उसका नाम कानूनी इतिहास में सुनहरे शब्दों में लिखा जाएगा.