Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / शुक्लागंज: जुए और सट्टे का कारोबार बड़े स्तर पर, छिड़ सकता हैं गैंगवार

शुक्लागंज: जुए और सट्टे का कारोबार बड़े स्तर पर, छिड़ सकता हैं गैंगवार

शुक्लागंज, उन्नाव। गंगाघाट कोतवाली के बिंदा नगर निवासी एक युवक देर रात घर जा रहा था। तभी संदिग्ध परिस्थितियों में युवक को गोली लग गई। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने घायल युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा है और मामले की जांच पड़ताल की। जिसमें पुलिस ने पाया कि मामला पुरानी […]

शुक्लागंज, उन्नाव गंगाघाट कोतवाली के बिंदा नगर निवासी एक युवक देर रात घर जा रहा था। तभी संदिग्ध परिस्थितियों में युवक को गोली लग गई। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने घायल युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा है और मामले की जांच पड़ताल की। जिसमें पुलिस ने पाया कि मामला पुरानी रंजिश का है। जांच पड़ताल की जा रही है। बिंदा नगर निवासी आदर्श निगम मंगलवार रात करीब ग्यारह बजे घर जा रहा था। आरोप है कि तीन लोग उसका पीछा कर रहे थे। गली के पास पहुंचते ही उसे गोली मार दी। जिससे उसके बांये कंधे पर गोली लगी। वह चीखने चिल्लाने लगा। घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा। आदर्श की तहरीर पर गांधी नगर निवासी पूर्व सभासद सईद मियां, आशीष गिरी व मनोहर नगर निवासी ताबीज के खिलाफ कातिलाना हमले का मुकदमा पुलिस ने दर्ज किया है। वहीं पूर्व सभासद सईद मियां ने बताया कि ग्यारह बजे की घटना बताई जा रही है, जबकि वह नौ बजे से साढ़े बारह बजे तक मनोहर नगर में सभासद शहजादे के साथ थे और एक दोस्त का जन्मदिन मना रहे थे। इस बावत गंगाघाट इंस्पेक्टर श्याम कुमार पाल ने बताया कि आदर्श की पुरानी रंजिश है। घटना संदिग्ध है, मामले की जांच की जा रही है।


संजय शुक्ला हत्याकांड में था शामिल

ब्रम्ह नगर निवासी पूर्व बीडीसी के भाई संजय शुक्ला की हत्या 31 मई 2015 की रात को हुई थी। जिसमें आदर्श निगम समेत आधा दर्जन युवक हत्या में नामजद था। आदर्श के खिलाफ गंगाघाट कोतवाली के अलावा आस पास के थानों में आपराधिक मामले दर्ज हैं।

छिड़ सकता हैं गैंगवार

गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र मे ंजुंए और सट्टे का कारोबार बड़े स्तर पर चल रहा है। इस कारोबार बड़े स्तर से चल रहा है। इस कारोबार को लेकर कई बार गोलीकांड हो चुका है। समय रहते पुलिस नहीं चेती तो गैंगवार छिड़ सकता है। वहीं इस धंधे में एक दूसरे को मात देने के लिए जिले के आलाधिकारियांे के द्वारा बनाई गई स्पेशल टीम के भी लोग इनकी चैखटों पर जी हुजूरी करते देखे जा सकते हैं। जिससे पुलिस की कार्य प्रणाली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।