Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / शुक्लागंज: छोटी बहन के बर्थडे के दिन बड़ी बहन फांसी पर झूली, मौत

शुक्लागंज: छोटी बहन के बर्थडे के दिन बड़ी बहन फांसी पर झूली, मौत

Report By: Ankit Kushwaha शुक्लागंज, उन्नाव। गंगाघाट कोतवाली के देवारा खुर्द गांव में एक परिवार अपनी छोटी बेटी के बर्थ डे की तैयारियों में जुटा हुआ था। इस बीच बड़ी बेटी जो मानसिक रूप से पिछले गई दिनों से परेशान चल रही थी। उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बहन का शव फांसी पर झूलता […]

Report By: Ankit Kushwaha

शुक्लागंज, उन्नाव गंगाघाट कोतवाली के देवारा खुर्द गांव में एक परिवार अपनी छोटी बेटी के बर्थ डे की तैयारियों में जुटा हुआ था। इस बीच बड़ी बेटी जो मानसिक रूप से पिछले गई दिनों से परेशान चल रही थी। उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बहन का शव फांसी पर झूलता देख छोटी बहन चीख पड़ी। शोर सुन आस पास लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और पीएम के लिए भेजा है।

मृतक आरती की फाइल फोटो

देवारा खुर्द निवासी अनिल कुमार की दो बेटियां आरती और खुशबू हैं। आरती कक्षा बारह की छात्रा है। शनिवार को उसकी छोटी बेटी खुशबू का जन्मदिन था। घर में बर्थ डे की तैयारियां चल रही थी। खुशबू की मां बिजनेश जन्मदिन के लिए बाजार से सामान खरीदने गई थी। दोपहर लगभग तीन बजे छोटी बहन खुशबू घर के बाहर खेल रही थी। इस बीच आरती ने कमरे में जाकर फांसी लगा ली। कुछ देर बाद छोटी बहन कमरे में गई। जहां फांसी पर झूलता देख उसकी चीख निकल गई और घर से बाहर की ओर भागी। इस बीच मोहल्ले के तमाम लोगों की भीड़ जमा हो गई। कुछ देर बाद छात्रा की मां बिजनेश घर पहुंची, जहां बेटी का शव लटकता देख। उसके होश उड़ गए। वह दहाड़े मार कर रोने लगी। अनिल का बड़ा बेटा आकाश, छोटी बेटी खुशबू है। घटना की जानकारी गंगाघाट पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। आरती की मौत के बाद बर्थ डे की खुशियां मातम में बदल गई।