Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / शुक्लागंज: चौथे स्तम्भ पर दरोगा ने किया हमला, बुरी तरह से पीटकर किया लहूलुहान

शुक्लागंज: चौथे स्तम्भ पर दरोगा ने किया हमला, बुरी तरह से पीटकर किया लहूलुहान

Report By: Ankit Kushwaha शुक्लागंज। उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकारों पर लगातार हमले हो रहे हैं, जब भी पत्रकार किसी बात को लेकर आवाज उठाते हैं या भ्रष्टाचार पर बोलते हैं तो उन्हें धमकाया जाता है, बाद में उनपर हमला कर दिया जाता है। पिछले कई महीनों में पत्रकारों […]

Report By: Ankit Kushwaha

शुक्लागंज उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकारों पर लगातार हमले हो रहे हैं, जब भी पत्रकार किसी बात को लेकर आवाज उठाते हैं या भ्रष्टाचार पर बोलते हैं तो उन्हें धमकाया जाता है, बाद में उनपर हमला कर दिया जाता है। पिछले कई महीनों में पत्रकारों पर हमले हो चुके है औऱ जबकि कई लोगों को बुरी तरह से पीटा गया है। ऐसा ही मामला उन्नाव जिले के शुक्लागंज से सामने आया है जहां एक पत्रकार को दरोगा द्वारा बुरी तरह से पीटकर लहूलुहान कर दिया गया।

पत्रकार विपिन पांडे ने बताया कि वह गणेश महोत्सव मे जा रहे थे कि पीछे से कुछ मित्र बाबा कुटी के पास से साथ में जाने के लिए आ रहे थे उनका इंतजार करने के लिए वह कंचन नगर मोड़ के पास खड़े हो गए जिस पर दबंग दरोगा जी पीछे से आ गए और वह नशे में धुत दोनों दरोगा अपने निजी वाहन से उतरे और उनसे बोले कि तुम यह कैसे खड़े हो पत्रकार ने अपना परिचय देते हुए बताया कि वह अपने मित्र का इंतजार कर रहे हैं नशे में धुत दरोगा इरफान अहमद व प्रेम नारायण ने तुरंत पत्रकार से खुन्नस मानते हुए अभद्र भाषाओं का प्रयोग करने लगे । जिसका विरोध करने पर वह पत्रकार को अपने निजी वाहन से जबरन बैठा कर चौकी ले आए जहां पत्रकार को जमकर मारा-पीटा और खबर न चलाने की धमकी देते रहे । इस दौरान साथी पत्रकारों को पता चला तो चौकी जाकर पत्रकार को पकड़कर लाने का कारण चौकी इंचार्ज से पूछा तो नशे मे धुत चौकी इंचार्ज इरफान ने कहा पुलिस के विरोध मे खबर चलाओगे तो इससे भी बुरी हालात कर दूंगा। चौकी इंचार्ज नशे के हालात मे पत्रकारों से अभद्रता किए जा रहे थे सभी पत्रकार चौकी पहुंचने लगे । जिसके बाद पत्रकार विपिन पांडे को चौकी इंचार्ज ने छोड़ दिया इस दौरान चौकी इंचार्ज ने पत्रकार को काफी बुरी तरीके से चौकी के अंदर बेल्टों से मारा पीटा था।
बिंदा नगर चौकी इंचार्ज व बालूघाट चौकी इंचार्ज इस समय प्रशासन की मनसा अनुसार वाहन चालकों को यातायात नियमों पाठ पढ़ा रहे हैं लेकिन अपना खुद ना पढ़कर दूसरों को समझा रहे हैं या कहा जाए कि वह अपनी वर्दी का रौब जमा रहे हैं इसी दौरान एक संस्था के पत्रकार ने यातायात नियमों का पालन करते हुए बगैर हेलमेट व एक एप्स के माध्यम से मिली जानकारी के अनुसार बगैर इंश्योरेंस के वाहन चला रहे थे कि एक पत्रकार ने उनका फोटो खींचकर ट्विटर के माध्यम से लखनऊ में बैठे आला अधिकारियों को ट्वीट कर दिया जिस पर बौखलाए चौकी इंचार्ज ने पत्रकारों पर जुल्म ढाना शुरू कर दिया और पत्रकार को अपने निजी वाहन में जबरन उठाकर चौकी में जमकर बेल्टों से पिटाई कर दी। इस दौरान पत्रकार की पीठ पर बेल्ट व पट्टे के निशान साफ देखे जा सकते हैं। सूत्रों की माने तो चेकिंग के दौरान अवैध उगाही भी करते हैं।
पत्रकार को चौकी में बंद कर पिटाई करने की घटना बेहद शर्मनाक है। पीड़ित पत्रकार के अनुसार दरोगा बिंदा नगर चौकी इंचार्ज इरफान अहमद व बालूघाट चौकी इंचार्ज प्रेम नारायण ने शराब के नशे में उन्हें गाली देते हुए अपनी निजी गाड़ी से रात्रि लगभग 11:00 बजे के आसपास जबरन पत्रकार को चौकी ले आए और बंदकर जमकर पीट दिया। पीड़ित पत्रकार विपिन पांडे उन्नाव से क्राइम रिपोटर के पद पर एक संस्था में कार्यरत है। वही
घटना के तुरंत बाद नगर के सभी पत्रकार कोतवाली पहुंचे गए और कोतवाल से मामले की शिकायत की। कार्यवाही न होते देख पत्रकारों में आक्रोष रहा।और रात्रि को ही ट्विटर के माध्यम से लखनऊ में बैठे आला अधिकारियों को मामले से अवगत कराया गया। जिसके बाद सुबह उन्नाव मीडिया सेल से टि्वटर के माध्यम से क्षेत्राधिकारी को जांच करने की बात कही गई है। कोतवाली प्रभारी श्याम पाल ने आरोपी दरोगा के खिलाफ कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है देखना यह है की कार्यवाही होती है या सिर्फ कोरा आश्वासन दिया गया है।