Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / शुक्लागंज : भदई अमावस्या पर हजारों श्रद्वालुओं का गंगा घाट पर लगा तांता

शुक्लागंज : भदई अमावस्या पर हजारों श्रद्वालुओं का गंगा घाट पर लगा तांता

Report By :  Ankit Kushwaha शुक्लागंज, उन्नाव । भदई अमावस्या पर हजारों लोगों ने गंगा मे आस्था की डुबकी लगाई सुबह से गंगा तट पर स्नानार्थियों  के आने का सिलसिला शुरू हो गया था. स्नान के बाद श्रद्वालुओं ने तट पर बैठे पंडों‘ का दान दक्षिणा दी जिसके अलावा तमाम श्रद्धालुओं ने गंगा तट पर भगवान सत्यनारायण की कथा […]

Report By :  Ankit Kushwaha

शुक्लागंज, उन्नाव भदई अमावस्या पर हजारों लोगों ने गंगा मे आस्था की डुबकी लगाई सुबह से गंगा तट पर स्नानार्थियों  के आने का सिलसिला शुरू हो गया था. स्नान के बाद श्रद्वालुओं ने तट पर बैठे पंडों‘ का दान दक्षिणा दी जिसके अलावा तमाम श्रद्धालुओं ने गंगा तट पर भगवान सत्यनारायण की कथा का श्रवण किया. दोपहर तक गंगा स्नांन के लिए लोगों के आने का सिलसिला जारी रहा भदई अमावस्या पर स्नान के लिए घरो से निकल पडे थे.

तड़के से नगर के अलावा कानपुर, उन्नाव, बागरमऊ ,बाराबंकी ,अचलगज ,बीघापुर ,मौरवां ,पुरवा ,असोहा ,नवाबगज ,लखनऊ समेत तमाम स्थानों से स्नानार्थियों के आने का सिलसिला सुबह से शुरू हो गया था गंगा स्नान के बाद श्रद्वालुओं ने तट पर बैठे पंडों को दान दक्षिणा देकर पुण्य लाभ कमाया स्नान के बाद तमाम श्रद्वालुओं ने गंगा तट पर भगवान सत्यनारायण की कथा की श्रवण किया गया. इसके बाद लोगो ने गंगा तट पर लगे मेले का  जमकर आनन्द उठाया, स्नानार्थियों की भारी भीड़ के चलते गंगातट पर तिल रखने की जगह नहीं बची थी दोपहर बाद तक स्नानार्थियों के आने का सिलसिला जारी रहा हालाकि इस दौरान पुलिस की टीम मेले पर गश्त करती रही तथा बड़ी संख्या मे ट्रेन से श्रद्वालु गंगातट पर पहुंचे. स्नान के बाद लौटते समय रेलवे स्टेशन पर यात्रियों से खचाखच भरी हुई थी.

वहीं प्लेटफार्म फुल होने से श्रद्धालुओं को जान जोखिम में डाल कर ट्रैक के किनारे बैठना पड़ा. वहीं ट्रेन आते ही चढ़ने-उतरने की होंड मच जाती थी तथा गंगातट पर विभिन्न प्रकार की दुकानें लगी थी सौन्दर्य प्रसाधन के अलावा लईया ,खील ,चूरा के अलावा मिठाई की दुकानें व चाट-चाउमीन के ठेले पर लोगो की भीड देखी गई वही महिलाओ ने जमकर सौन्दर्य प्रसाधन की वस्तुएं खरीदी. वहीं मेले में बच्चों से लेकर बूढ़ों तक ने छोटे बड़े झूलाओं का लुुत्फ उठाया. वहीं युवाओं ने पुल के बरार लगे बड़े झूले का आनंद लिया.