Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / दुश्मन देशों की नींदें हराम, समुद्र में उतरने से पहले ही छूटेंगे पसीने

दुश्मन देशों की नींदें हराम, समुद्र में उतरने से पहले ही छूटेंगे पसीने

नई दिल्ली : भारतीय नौसेना को इस महीने के आखिर में नई पनडुब्बी मिल जाएगी. 28 सितंबर को मुंबई में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में स्कॉर्पीन क्लास पी-75 की दूसरी सबमरीन खंडेरी नेवी में शामिल होगी. कलवरी श्रेणी की यह स्कॉर्पीन सबमरीन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. इसमें ऐसी तकनीक है कि दुश्मन […]

नई दिल्ली : भारतीय नौसेना को इस महीने के आखिर में नई पनडुब्बी मिल जाएगी. 28 सितंबर को मुंबई में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में स्कॉर्पीन क्लास पी-75 की दूसरी सबमरीन खंडेरी नेवी में शामिल होगी. कलवरी श्रेणी की यह स्कॉर्पीन सबमरीन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. इसमें ऐसी तकनीक है कि दुश्मन देशों की नेवी के लिए इसकी टोह लेना मुश्किल होगा और यह सटीक हमला करने में सक्षम है.

स्कॉर्पिन पनडुब्बियों का प्रॉजेक्ट मुंबई स्थित मझगांव डॉक शिप बिल्डर्स लिमिटेड (MDL) और फ्रांस की कंपनी नवल ग्रुप (पूर्व में DCNS) के सहयोग से चल रहा है. इस प्रॉजेक्ट के तहत पहली पनडुब्बी 2012 में लॉन्च होनी थी, लेकिन प्रॉजेक्ट लेट हो गया. लंबे इंतजार के बाद नेवी को स्कॉर्पिन सीरीज की पहली सबमरीन आईएनएस कलवरी पिछले साल दिसंबर में मिली. अब 28 सितंबर को INS खंडेरी नेवी में शामिल हो जाएगी जिसके बाद INS करंज के भी जल्द ही नेवी को मिलने की उम्मीद है.

इसके अलावा तीन और सबमरीन एमडीएल में बन रही हैं जो 2022-23 तक नेवी को मिल सकती हैं. चीन जिस तरह से अपनी नेवी पर लगातार खर्च बढ़ा रहा है उससे एक्पर्ट्स का मानना है कि इंडियन नेवी के भी तेजी से आधुनिकीकरण की जरूरत है. पेंटागन की एक रिपोर्ट के मुताबिक दो महीने पहले ही चीन की सेना ने 4 न्यूक्लियर पावर बलिस्टिक मिसाइल सबमरीन,(SSBN), 6 न्यूक्लियर पावर अटैक सबमरीन (SSN) और 50 सबमरीन को शामिल किया है. नेवी चीफ ऐडमिरल करमबीर सिंह भी चीन की नेवी को लेकर अलर्ट रहने की बात कह चुके हैं.

INS खंडेरी के अलावा 28 सितंबर को मुंबई में ही नेवी के लिए पी-17A क्लास शिप की भी लॉन्चिंग होगी. शिप बनकर तैयार है और अब इसकी लॉन्चिंग के बाद सारे ट्रायल पानी में होंगे और इसके इक्विपमेंट्स चेक किए जाएंगे. ट्रायल पूरे होने के बाद उम्मीद है कि 2021 तक यह शिप नेवी को मिल जाएगा। यह शिवालिक क्लास शिप का फॉलोऑन है. इस तरह के 7 शिप नेवी को मिलने हैं.

इन शिप का निर्माण ब्लॉक तरीके से हो रहा है जो पहली बार हो रहा है. इसमें शिप को अलग-अलग ब्लॉक में अलग-अलग जगह पर बनाकर एक साथ फिर जोड़ा जा रहा है. इससे निर्माण का काम तेजी से होता है. इसके अलावा 28 सितंबर को ही रक्षा मंत्री मुंबई में एयरक्राफ्ट कैरियर ड्राइ डॉक (ऐसा प्लैटफॉर्म जहां एयरक्राफ्ट कैरियर को पानी से बाहर लाकर उसे रिपेयर या रेनोवेट कर सकते हैं) का भी उद्घाटन करेंगे. अब तक इस तरह का ड्राइडॉक कोचीन में था और एयरक्राफ्ट कैरियर को हर डेढ़-दो साल में वहां ले जाना होता था. पर अब यह मुंबई में ही हो सकेगा.