Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का विस्तार, 14 नए चेहरे शामिल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का विस्तार, 14 नए चेहरे शामिल

TheRepublicIndia : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का विस्तार बुधवार को हो गया. राजभवन में आयोजित हुए शपथग्रहण समारोह में योगी के 23 मंत्रियों ने शपथ ली. इन 23 मंत्रियों में 14 नए चेहरे योगी मंत्रिमंडल में शामिल किए गए. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभी मंत्रियों को शपथ दिलाई. योगी ने मंत्रिमंडल में […]

TheRepublicIndia : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का विस्तार बुधवार को हो गया. राजभवन में आयोजित हुए शपथग्रहण समारोह में योगी के 23 मंत्रियों ने शपथ ली. इन 23 मंत्रियों में 14 नए चेहरे योगी मंत्रिमंडल में शामिल किए गए. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभी मंत्रियों को शपथ दिलाई. योगी ने मंत्रिमंडल में नए चेहरे तय करते समय जातीय और क्षेत्रीय संतुलन के साथ लोकसभा चुनाव में उनके प्रदर्शन का भी ध्यान रखा है. मंत्रिमंडल में जगह पाने वालों में कई ऐसे हैं, जो पहली बार विधायक बने हैं. 

योगी के मंत्रिमंडल में शामिल सात से अधिक मंत्री ऐसे हैं, जिन्हें बेहतर काम के इनाम दिया गया है. इनमें से 5 स्वतंत्र प्रभार मंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. दो राज्यमंत्री प्रमोशन पाकर स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री बने हैं. ताजा विस्तार के बाद योगी मंत्रिमंडल में कुल सदस्यों की संख्या अब मुख्यमंत्री सहित 56 हो जाएगी.

संघ की बैठक के बाद लगी अंतिम मुहर

मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर मंगलवार दोपहर बाद चिनहट के एक रिजॉर्ट में संघ के साथ समन्वय बैठक भी हुई, जिसमें सरकार और संगठन के प्रमुख चेहरों के साथ ही संघ के सहसरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले, दोनों क्षेत्र प्रचारक व सभी प्रांत प्रचारक भी मौजूद थे. मंत्रियों के नाम पर यहां भी काफी देर माथापच्ची हुई. बैठक के बाद मंत्रियों के नामों पर अंतिम मोहर लगाई गई थी.

इस्तीफों के बाद पद थे खाली

19 मार्च, 2017 को जब सीएम योगी आदित्यनाथ ने शपथ ली थी तब उनकी टीम 47 लोगों की थी. इस्तीफों के बाद अब टीम 40 लोगों की हो चुकी थी. कैबिनेट मंत्री व एसबीएसपी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद बर्खास्त कर दिया गया था. वहीं, रीता बहुगुणा जोशी, एसपी सिंह बघेल व सत्यदेव पचौरी ने सांसद बनने के बाद इस्तीफा दे दिया था. प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री के पद से स्वतंत्र देव सिंह इस्तीफा दे चुके थे. मंगलवार को वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल और बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल का भी इस्तीफा हो गया.

ये नए चेहरे बने मंत्री

श्रीराम चौहान, नीलिमा कटियार, अशोक कटारिया, चौधरी उदयभान, अनिल शर्मा, आनंद स्वरूप शुक्ला, सतीश चंद्र द्विवेदी, चंद्रिका उपाध्याय, जीएस धर्मेश, महेश चंद्र गुप्ता, विजय कश्यप, विनय शाक्य, रामनरेश अग्निहोत्री, कमला रानी वरुण.

ये बने कैबिनेट मंत्री

डॉ. महेंद्र सिंह, ग्राम्य विकास मंत्री

चौधरी भूपेंद्र सिंह, पंचायती राज मंत्री

सुरेश राणा, गन्ना विकास मंत्री

अनिल राजभर, होमगार्ड व पिछड़ा कल्याण मंत्री

उपेंद्र तिवारी, परती व भूमि विकास मंत्री

राम नरेश अग्निहोत्री

कमला रानी वरुण

इनको मिला स्वतंत्र प्रभार

नीलकंठ तिवारी, कपिलदेव अग्रवाल, सतीश द्विवेदी, अशोक कटारिया, श्रीराम चौहान, रवींद्र जायसवाल.

ये बने राज्यमंत्री

अनिल शर्मा, महेश गुप्ता, आनंद स्वरूप शुक्ला, विजय कश्यप, डॉ. गिर्राज सिंह धर्मेश, लाखन सिंह राजपूत, निलिमा कटियार, चौधरी उदयभान सिंह, चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, रमाशंकर सिंह पटेल, अजीत सिंह पाल.   


यह भी पढ़ें…

जम्मू एवं कश्मीर के हालात पर गृहमंत्री, NSA तथा गृह सचिव के बीच बैठक

अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहुंचे एम्स

पाकिस्तानियों को सियोल में भी जवाब देना नहीं भूली शाजिया इल्मी