Latest News Kanpur: 32 साल पहले पाकिस्तान से भारत आया परिवार, पहचान छिपाई, घर भी बना लिया और मिल गई सरकारी नौकरी , अब कोर्ट ने लिया संज्ञान Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू
Home / वाराणसी : नकली उत्‍पादों पर प्रशासन की मार, घर में तैयार हो रही थी ब्रांडेड सिगरेट

वाराणसी : नकली उत्‍पादों पर प्रशासन की मार, घर में तैयार हो रही थी ब्रांडेड सिगरेट

Report By : Junaid khan  वाराणसी।  शहर में नकली उत्‍पादों के कारखाने इन दिनों प्रशासनिक सक्रियता की वजह से पकड़े जा रहे हैं. इसी कड़ी में गुरुवार की दोपहर मंडुआडीह पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली. शहर में नकली उत्‍पादों के कारखाने इन दिनों प्रशासनिक सक्रियता की वजह से पकड़े जा रहे हैं. इसी कड़ी में […]

Report By : Junaid khan 

वाराणसी।  शहर में नकली उत्‍पादों के कारखाने इन दिनों प्रशासनिक सक्रियता की वजह से पकड़े जा रहे हैं. इसी कड़ी में गुरुवार की दोपहर मंडुआडीह पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली.

शहर में नकली उत्‍पादों के कारखाने इन दिनों प्रशासनिक सक्रियता की वजह से पकड़े जा रहे हैं. इसी कड़ी में गुरुवार की दोपहर मंडुआडीह पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली. पुलिस को जानकारी मिली कि नकली ब्रांडेड सिगरेट घर में बने एक कारखाने में तैयार की जा रही है. इसके बाद पुलिस ने मौके पर छापेमारी की तो काफी मात्रा में नकली उत्‍पाद बरामद हुए हैं.

सूचना मिलने के बाद पुलिस ने जब उस घर में छापेमारी की तो घर के अंदर करोड़ों रुपए की मशीनरी के साथ ही लाखों रुपये का नकली तैयार सिगरेट बरामद किया गया. पुलिस के मुताबिक इस फैक्ट्री से नकली सिगरेट बनाने के बाद पूर्वांचल भर में इसकी आपूर्ति की जा रही थी. इस फैक्ट्री में नकली सिगरेट भी काफी मात्रा में बरामद हुए हैं जिनको पुलिस ने जब्‍त कर लिया है. माल की बरामदगी के बाद पुलिस प्रशासन आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई में जुट गई है.

पुलिस ने जब मकान में चल रहे कारखाने में प्रवेश किया तो मशीनें लगी देखकर सभी हैरान रह गए. मौके पर पैकेजिंग के सामान, तैयार माल और भारी मात्रा में रैपर भी बरामद किया गया है. वहीं तैयार माल की कीमत करीब दस करोड़ रूपये आंकी गई है. वहीं इस अवैध कारखाने का संचालक मौके से फरार हो गया. पुलिस अब संबंधित आरोपितों को जल्‍द हिरासत में लेकर पूरे रैकेट की जानकारी लेने में जुट गई है ताकि पूरे कारोबार का खुलासा हो सके.