Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल योगी सरकार का ‘आगरा मॉडल’ हुआ ध्वस्त,मेरठ और कानपुर भी आगरा बनने की राह पर: अजय कुमार लल्लू बाबा साहेब के संविधान से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : अजय कुमार लल्लू
Home / वाराणसी : दिनदहाड़े तहसील एसडीएम कार्यालय में ताबड़तोड़ फायरिंग, गोली मारकर हत्या

वाराणसी : दिनदहाड़े तहसील एसडीएम कार्यालय में ताबड़तोड़ फायरिंग, गोली मारकर हत्या

संभलने का मौका भी नहीं मिला मृतक बबलू सिंह फार्च्‍यूनर गाड़ी (यूपी 32 ईई 0900) से सोमवार की सुबह 10 बजे तहसील सदर पहुंचा था। यह वाहन लखनऊ में अनीता सिंह के नाम से रजिस्‍टर्ड है। आशापुर निवासी नितेश संभवत: किसी जमीन के सिलसिले में यहां आया था। तहसील में अभी अधिवक्‍ताओं और वादकारियों की […]

संभलने का मौका भी नहीं मिला
मृतक बबलू सिंह फार्च्‍यूनर गाड़ी (यूपी 32 ईई 0900) से सोमवार की सुबह 10 बजे तहसील सदर पहुंचा था। यह वाहन लखनऊ में अनीता सिंह के नाम से रजिस्‍टर्ड है। आशापुर निवासी नितेश संभवत: किसी जमीन के सिलसिले में यहां आया था। तहसील में अभी अधिवक्‍ताओं और वादकारियों की आवाजाही शुरू ही हुई थी। उसी समय पल्‍सर सवार दो युवक मौके पर पहुंचे।

बदमाशों ने दागी कई गोलियां
एसडीएम सदर कार्यालय के सामने पल्‍सर सवार युवकों ने नितेश का पीछा किया जिससे बचने के लिए वह गाड़ी की तरफ भागा। मगर वह ड्राइविंग सीट पर घुसने की कोशिश कर ही रहा था मगर बदमाशों ने उसे गोलियों से भून दिया। नितेश उर्फ बबलू को कुल छह गोलियां लगी हैं और मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद हमलावर भाग निकले।

दिनदहाड़े कैंट सर्किल में दूसरी हत्‍या
मौके पर कई थानों की पुलिस और क्राइम ब्रांच के अलावा एसएसपी, एसपी सिटी व अन्‍य आला अधिकारी भी पहुंच गए। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। हत्‍या के पीछे प्रथमदृष्‍टया प्रापर्टी का विवाद माना जा रहा है। शहर में दिनदहाड़े हत्‍या का यह दूसरा मामला है। इससे पहले 3 सितम्‍बर को एक लाख के इनामी झुन्‍ना पंडित ने प्रापर्टी डीलर और प्रधान से रंगदारी मांगने का विरोध करने पर कैंट के मड़वा गांव में दिव्‍यांग चायपान विक्रेता दिलीप की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी।

कहीं इसके पीछे भी झुन्‍ना तो नहीं
इनामी झुन्‍ना पंडित ने जरायम जगत में वापसी के साथ ही प्रापर्टी डीलरों को निशाने पर ले रखा है। पुलिस के मुताबिक, आशापुर, कैंट, चोलापुर आदि क्षेत्रों में उसने कई प्रापर्टी डीलरों से रंगदारी वसूली है। जमीन की लंबी खरीद-फरोख्‍त पर उसकी निगाह गड़ी हुई है। चूंकि मृतक भी एक प्रापर्टी डीलर है इसलिए घटना में झुन्‍ना का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता।