होम / वाराणसी: बीएचयू अस्पताल में वेतन विसंगति को लेकर हंगामा,एमटीएस कर्मचारी लामबंद

वाराणसी: बीएचयू अस्पताल में वेतन विसंगति को लेकर हंगामा,एमटीएस कर्मचारी लामबंद

Report By: Junaid Khan वाराणसी। लंबे समय से वेतन विसंगति संबंधी समस्‍याओं को लेकर अपनी मांग उठाने वाले सर सुंदरलाल अस्‍पताल बीएचयू वाराणसी के कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल पर चले गए. बीएचयू अस्पताल में वेतन विसंगति को लेकर मंगलवार की सुबह एमटीएस (मल्‍टी टास्किंग स्‍टाफ) धरना प्रदर्शन करने के साथ ही ही हड़ताल पर चले […]

Report By: Junaid Khan

वाराणसी लंबे समय से वेतन विसंगति संबंधी समस्‍याओं को लेकर अपनी मांग उठाने वाले सर सुंदरलाल अस्‍पताल बीएचयू वाराणसी के कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल पर चले गए. बीएचयू अस्पताल में वेतन विसंगति को लेकर मंगलवार की सुबह एमटीएस (मल्‍टी टास्किंग स्‍टाफ) धरना प्रदर्शन करने के साथ ही ही हड़ताल पर चले गए. सभी ओपीडी के एमटीएस कर्मचारी लामबंद होकर एकसाथ अस्‍पताल स्थित गेट पर पहुंचे और धरना प्रदर्शन करने लगे.

विभागीय कर्मचारियों की मांग है कि उनकी लंबे समय से चल रही वेतन विसंगति दूर हो, उनकी मांगों को संज्ञान में लेकर जल्‍द निराकरण किया जाए. दूसरी ओर अस्‍पताल में हड़ताल के बाद मरीज और तीमारदार भी परेशान होकर घूमते नजर आए. हडतात के बाद अस्‍पताल में मरीजाें के इलाज में भी दिक्‍कत आने लगी है. वहीं हड़ताल होने के बाद विभागीय अधिकारी भी मौके पर पहुंचे आैर कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया. हालांकि सुबह से ही आक्रोशित कर्मचारी परिसर के गेट पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. 

थोडी देर बाद अस्पताल के मेन गेट को बंद कर एमटीएस अस्पताल प्रशासन के खिलाफ वेतन विसंगति को लेकर नारेबाजी भी करते रहे. ताले से मेन गेट को बंद कर एमटीएस के विरोध प्रदर्शन के दौरान किसी भी मरीज और अन्‍य अस्‍पताल कर्मी को अंदर नहीं जाने दिया गया. वहीं अस्‍पताल से बाहर भी आने से कर्मचारी रोक रहे हैं. वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंचे लंका थाने के पुलिसकर्मियों ने एमटीएस से बातचीत किया.

एमटीएस के धरने की सूचना पर बीएचयू चीफ प्रॉक्टर सुरक्षाकर्मियों समेत मौके पर पहुंचे और कर्मियों से बातचीत कर उनको समझाने की कोशिश की. एमटीएस का कहना है कि उनका वेतन बढ़कर मिलने वाला था लेकिन जब इस माह वेतन मिला तो दो से तीन हजार रुपये घट गए. इसके बाद एमटीएस का आक्रोश और भी बढ़ गया और सभी ने मिलकर एकसाथ हड़ताल पर जाने का फैसला लिया.