Latest News Weekly lockdown: यूपी में संडे को वीकली लॉकडाउन, कोरोना पर योगी के 10 बड़े निर्देश घर जाने का इंतजार कर रहे प्रवासियों के लिए राहत भरी की खबर… ये हैं देश के सबसे प्रतिष्ठित साइबर वॉरियर, जानें CQ-100 में कौन-कौन हैं शामिल क्या आप या आपके नेटवर्क में है कोई Cyber Expert? इन 5 कैटिगरी में हो रहा है ऑल इंडिया ऑनलाइन सर्वे, आज ही करें नॉमिनेशन अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसे ऐठने वाले कथित पत्रकार को एसटीएफ़ ने किया गिरफ्तार
Home / वाराणसी में बिजली विभाग का बड़ा का कारनामा, एक महीने का 618 करोड़ रुपए का बिजली बिल

वाराणसी में बिजली विभाग का बड़ा का कारनामा, एक महीने का 618 करोड़ रुपए का बिजली बिल

Report By: Junaid Khan & Khursid Alam वाराणसी। वाराणसी (Varanasi) में बिजली विभाग (Electricity Department) का बड़ा कारनामा सामने आया है. एक निजी स्कूल (private schools) को 6 अरब रुपए से ज्‍यादा का बिजली बिल (Electricity bill of 6 billion rupees) विभाग के तरफ से भेजा गया है. दिलचस्‍प है कि यह बिल कई साल का नहीं, […]

Report By: Junaid Khan & Khursid Alam

वाराणसी वाराणसी (Varanasi) में बिजली विभाग (Electricity Department) का बड़ा कारनामा सामने आया है. एक निजी स्कूल (private schools) को 6 अरब रुपए से ज्‍यादा का बिजली बिल (Electricity bill of 6 billion rupees) विभाग के तरफ से भेजा गया है. दिलचस्‍प है कि यह बिल कई साल का नहीं, बल्कि मात्र एक महीने का है. बिजली बिल देखकर स्कूल के प्रबंधक हैरान-परेशान हैं. प्रबंधक की मानें तो इसकी शिकायत बिजली विभाग से की गई है, लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई.

हैरत में स्कूल प्रबंधक
दरअसल, वाराणसी के एक निजी स्कूल के प्रबंधक के पास करीब 6 अरब 18 करोड़ 51 लाख रुपए का बिजली बिल आया है. बिजली बिल की इतनी मोटी रकम देखकर स्कूल प्रबंधक हैरान हैं. स्कूल प्रबंधक योगेंद्र मिश्रा की मानें तो उन्होंने पिछला सभी बिजली का बिल जमा कर दिया था, इसके बाद इतना बिल आना ताज्जुब की बात है. योगेंद्र मिश्रा का कहना है कि इस बिजली बिल की शिकायत उन्होंने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक के दफ्तर में किया था. स्‍कूल प्रबंधक ने बताया कि उन्हें सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी बता कर वापस भेज दिया गया.

बिजली विभाग कार्यालय का लगा रहे चक्‍कर
योगेंद्र मिश्रा ने बताया कि बिजली के बिल को ठीक कराने के लिए वह पिछले कई दिनों से बिजली विभाग का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं मिला. बता दें कि इस बिजली बिल को जमा नहीं करने की स्थिति में कनेक्शन काटे जाने की तारीख 7 सितंबर की है. ऐसे में जैसे-जैसे तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे स्कूल प्रबंधक की चिंता बढ़ती जा रही है. उन्‍हें बिजली कनेक्शन कटने का डर सता रहा है.

वहीं, अब उपभोक्ता इस बात को लेकर परेशान है कि इतनी बड़ी रकम कैसे भरी जाए. बिजली बिल को कम कराने को लेकर स्‍कूल प्रबंधन पिछले कई दिनों से बिजली विभाग का चक्कर लगा रहा है. विभाग की तरफ से उपभोक्ता को बिजली बिल सही करने का आश्वासन देकर लौटा दिया जा रहा है.